शहीद हेमंत करकरे के खिलाफ प्रज्ञा ठाकुर के अपमान जनक टिप्पणी के विरोध में बिलासपुर ,रायपुर और भिलाई में नागरिक समाज ने किया विरोध प्रदर्शन .कहा फासिस्ट ताकतों को करें परास्त .

बिलासपुर / रायपुर / भिलाई .: 20.04.2019

सीजीबास्केट के लिये धर्मेंद्र की रिपोर्ट 

 

आज छत्तीसगढ़ के विभिन्न स्थानों पर भोपाल से भाजपा की प्रत्याशी और मालेगांव बमब्लास्ट ,समझोता एक्सप्रेस बिस्फोट तथा सुनील जोशी हत्याकांड की अभियुक्त विभिन्न आतंकवादी धाराओं में दस साल जेल में रही प्रज्ञा ठाकुर ने 2008 में पाकिस्तान के आंतकियों द्वारा शहीद किये गये हेमंत करके के विरुद्ध गंभीर आपत्तिजनक टिप्पणी के विरोध में बिलासपुर ,रायपुर ,भिलाई तथा छत्तीसगढ़ के विभिन्न स्थानों पर नागरिक समाज ने प्रदर्शन किया और कहा कि करकरे की हत्या में यह आशंका व्यक्त की जा रही थी कि आतंकियों की आड़ मे उन्हें देश की सांप्रदायिक गिरोह ने उनकी हत्या की जा सकती हैं .प्रज्ञा के बयान से इसकी पुष्टि होती हैं .

वक्ताओं ने कहा कि इस लोकसभा चुनाव में भाजपा और मोदी को परास्त करें और लोकतंत्र तथा संविधान को बचाने की लडाई में आगे आयें.उन्होंने कहा कि मोदी के आने के बाद करोड़ों लोगों के हाथ से उनकी आजीविका छिन गई वहीं सैकड़ों लोग बैंकों की कतार में शहीद हो गए। भ्रष्टाचार से लड़ने के नाम पर सत्ता में आई भाजपा खुद भ्रष्टाचार का पर्याय बन गई।नोट बंदी के दौरान सत्ता के गलियारों से जुड़े लोगों के नाम काले धन को सफेद करने पुराने नोटों को थोक में (सैकड़ों करोड़ रुपए) नये नोटों से बदलने के प्राथमिक सबूत मिले परंतु मोदी सरकार ने उनकी गहरी जांच नहीं किया खुद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे पर 16000 गुना संपत्ति वृद्धि के आरोप लगे परन्तु उनकी कोई जांच नहीं हुई।

इससे भ्रष्टाचार को भी बढ़ावा मिल रहा है सबसे ख़तरनाक काम जो मोदी सरकार ने किया है वह देश के प्रर्यावरण को नष्ट करने का है।वन कानूनों में ऐसा संशोधन किया है कि वनाधिकार कानून, पांचवीं अनुसूची में आदिवासियों के अधिकार,पेसा कानून आदि के प्रावधान ही बेअसर हो जाएंगे। अपने मित्र अडानी को मोदी जी ने पूरा छत्तीसगढ़ सौंप दिया है कोयला लोहा जो चाहो खोदो और मुनाफा कमाओ,जल जंगल जमीन आदिवासी मरें तो मरें। खुद मोदी सरकार में आदिम जाति कल्याण मंत्रालय वन कानूनों में संशोधन के खिलाफ खड़ा है परंतु जैसे हर तानाशाह किसी की नहीं सुनता वैसे ही आदिम जाति कल्याण मंत्रालय की नहीं सुनी जा रही है। हमारे नदियों जंगलों को बचाना है तो इस सरकार को बिदा करना होगा।

समाजवादी चितक आनंद मिश्रा ने सभा में फासीवादी ताकतों को परास्त करने का आव्हान किया इस लोकसभा चुनाव में.

 

बिलासपुर

बिलासपुर के देवकीनंदन चौक पर प्रदर्शन और सभा में बिलासपुर नागरिक समाज ने नागरिकों से अपील करते हुये एक पर्चा भी वितरित किया जिसमे छत्तीसगढ़ के सामाजिक कार्यकर्ता ,बुध्दिजीवी ,लेखक ,रंगकर्मियों के बड़ी संख्या में हस्ताक्षर है .जिसमे आव्हान किया गया हे कि आइए अपने वोट को सार्थक करें। सांप्रदायिक विघटनकारी झूठे जुमले बाज मोदी सरकार को परास्त करें। हम देश के उन तमाम संस्कृति कर्मियों लेखकों बुद्धिजीवियों पूर्व नौकरशाह राजदूत और चुनाव आयुक्त की उस आव्हान से अपनी सहमति जताते है जिन्होंने मोदी सरकार को वोट नहीं देने की अपील किया है।

सभा को आनंद मिश्रा,नंद कश्यप ,रवि बेनर्जी , गणेश तिवारी ,पवन शर्मा ,राजेश शर्मा ,नागेश्वर मिश्रा ,एस के जैन ने संबोधित किया .तथा किशोर शर्मा ,रवि श्रीवास ,सुखऊ राम निशाद ,संजीव मोईत्रा , लखन सुबोध ,अशोक सहगल ,निलोत्पल शुक्ल .प्ररमेश मिश्रा ,कपूर वासनिक ,डा . लाखन सिंह आदि उपस्थिति थे.

भिलाई .

आज छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा मजदूर कार्यकर्ता समिती ,प्रगतिशील सीमेन्ट श्रमिक संघ ने शहीद हेमन्त करकरे को अपमान तथाकथित साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने किया जिसका जमकर विरोध प्रदर्शन किया गया. सभा में कलादास डेहरिया ,लखन साहू एवं अन्य मजदूर नेता उपस्थिति रहे.

सभा को संबोधित करते हुये कहा गया कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर को यू ए पी ए से जमानत मिल जाता है अभी मध्यप्रदेश से सांसद चुनाव के लिए टिकट भी दे दिया जाता है जो साध्वी बम ब्लास्ट का बड़ा अपराधी और अभी केवल जमानत में है बरी नही हुआ है वो तथाकथित साध्वी शहीद हेमन्त करकरे का सरे आम अपमान करती है,और वही निर्दोष मानवाधिकार कार्यकर्ता वकील,मजदूर नेत्री सुधाभरद्वाज को जेल में बंद कर दिया जाता है साथ ही सोमा सेन सहित कई प्रोफेसर,अधिवक्ता,लेखक कवियों को यू ए पी ए लगाकर जेल में बंद कर दिया जाता है जमानत नही देने के लिए सरकार के इसारे पर पुलिस न्यालय को गुमराह करता है ,फिर सरकार ये व्यवस्था ढिढोरा पिटती है कि मुख्य धारा में आइये सब लोग तो मुख्यधारा में ही है जबकि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को टिकट देने वाले ही मुख्यधारा से भटक चुके है जो साध्वी हिन्दू आतंकवाद का सरगना है,लोकतंत्र को तहस नहस कर रहे है ये धर्म और जाति के राग अलापने वाले खिलाफ जनवाद पसन्द लोगों को सड़क में आकर विरोध करने की सख्त जरूरत है .

रायपुर

प्रज्ञा ठाकुर के शहीद करकरे के अपमान का रायपुर में हुआ जबरदस्त विरोध

राष्ट्रपति के नाम राज्यपाल को सौपा ज्ञापन

26/ 11 के मुम्बई आतंकी हमले में आतंकवादियों का मुंहतोड़ जवाब देते हुए अपने प्राणों की आहूति देने वाले मरणोपरांत सर्वोच्च सैन्य सम्मान अशोक चक्र से सम्मानित वीर शहीद हेमंत करकरे की शहादत का अपमान करने वाली प्रज्ञा ठाकुर के घृणित बयान का विरोध करते हुए रायपुर में भगतसिंह चौक पर जबरदस्त नागरिक प्रतिरोध हुआ । इसके बाद राजभवन तक पैदल मार्च निकाला गया व राष्ट्रपति के नाम राज्यपाल को ज्ञापन सौपा गया । इसमें रंगकर्मी, वरिष्ठ पत्रकार, साहित्यकार, लेखक, राजनीतिक कार्यकर्ता, वकील, डॉक्टर, बुद्धिजीवी, छात्र, युवा, महिला संगठनों के साथ ही नागरिक समाज के हर हिस्से के लोगो की भारी संख्या में भागीदारी रही ।

CG Basket

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कुशीनारा से गुज़रते: दर्शन का काव्यरूप.ःः. अजय चंन्द्रवंशी ,कवर्धा 

Sun Apr 21 , 2019
Share on Facebook Tweet it Share on Google Pin it Share it Email 21.04.2019 सभ्यता के विकासक्रम में जब मनुष्य […]