पानी भरने के बाद भी एनीकट का गेट नहीं खोला, खड़ी फसल डूबी

पानी भरने के बाद भी एनीकट का गेट नहीं खोला, खड़ी फसल डूबी

संबंधित खबरें

कोरबा (निप्र)। अहिरन नदी में बनाए गए एनीकट का गेट को पानी भर जाने के बावजूद नहीं खोला गया, इससे पानी आसपास के खेतों में घुस गया और खड़ी फसल पानी में डूब गई। लगभग 50 किसानों के खेत प्रभावित हुए हैं। जिस पर किसानों ने प्रशासन से क्षतिपूर्ति की मांग की है।
एसीबी पावर प्लांट में पानी आपूर्ति करने के लिए अहिरन नदी में जल संसाधन विभाग द्वारा एनीकट बनाया गया है, लेकिन इस एनीकट की निगरानी उचित ढंग से नहीं की जाती है। इसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ता है। क्षेत्र में हुदहुद की वजह से दो दिन बारिश हुई और अहिरन नदी में पानी का स्तर बढ़ गया।
इससे एनीकट लबालब हो गया, किंतु एनीकट का गेट नहीं खोला गया और पानी आसपास के खेतों में जाकर समा गया। वहीं कुछ पानी ओवरफ्लो होकर बहने लगा। खेतों में पानी भर जाने से खड़ी फसल डूब गई। इससे किसानों को क्षति पहुंची है।
गजरा, सुमेधा सहित आसपास की बस्तियों के किसानों ने प्रशासन से फसल नुकसान का मुआवजा दिए जाने की मांग रखी है, लेकिन प्रशासन द्वारा इस संबंध में कोई ध्यान नहीं दिया गया। बताया जाता है कि विभाग को उद्योगों की चिंता ज्यादा है और किसानों की नहीं। इसी वजह से अहिरन नदी के पानी से आसपास के ग्रामीण कई बार नुकसान उठाना पड़ा है।

Leave a Reply

You may have missed