छह गांव के ग्रामीणों ने किया किरंदुल थाना का घेराव

छह गांव के ग्रामीणों ने किया किरंदुल थाना का घेराव

किरंदुल। सर्चिंग पर निकली पुलिस पार्टी द्वारा  व किरंदुल थाना क्षेत्र के अलग-अलग गांवों से पंद्रह ग्रामीणों को पकड़कर कर थाना लाए जाने के विरोध सोमवार को छह गांवों के सैकड़ों ग्रामीणों ने किरंदुल थाना का घेराव कर दिया। हालांकि पूछताछ के बाद पुलिस ने 11 ग्रामीणों को निर्दोष बताते रिहा कर दिया, लेकिन चार लोगों के खिलाफ नक्सली सहयोगी होने के आरोप में जन सुरक्षा अधिनियम के तहत्‌ गिरफ्तारी कर कोर्ट में पेश किया गया है।
दरअसल रविवार-सोमवार के दरम्यान किरंदुल व अरनपुर थाना से पुलिस की सर्चिंग पार्टी चोलनार, समलवार, पोटाली, पिरनार, गुमियापाल , टिकनपाल गांव में गश्ती के दौरान पंद्रह ग्रामीणों को नक्सली सहयोगी के संदेह में पकड़कर किरंदुल थाना ले आई थी। जिसके बाद उक्त गांवों के सैकड़ों ग्रामीण, जिसमें महिलाएं भी बड़ी संख्या में शामिल थी। दुधमुंहे बच्चों को लेकर थाने पहुंची हुई थी।
थाने के बाहर सैकड़ों की तादात में जुटे ग्रामीणों को शांत कराने पुलिस प्रयासरत थी, लेकिन ग्रामीण थाने लाए गए ग्रामीणों को रिहा करने की मांग पर अडिग थे। इस दौरान थाना परिसर में बड़ी संख्या में सशस्त्र जवानों को तैनात किया गया था। पूछताछ के बाद पुलिस ने 11 को रिहा कर दिया, लेकिन संतराम, संतु लाल कड़ती, अजय और देवा कड़ती को नक्सली सहयोगी मानते हुए जन सुरक्षा के तहत गिरफ्तार कर लिया।
एसडीओपी मिर्जा जियारत बेग के अनुसार चारों के विरूद्घ पुलिस के पास साक्ष्य है, लिहाजा कार्रवाई की गई है। जो निर्दोष थे उन्हें रिहा कर दिया गया

Leave a Reply

You may have missed