वेदांता के खिलाफ आन्दोलनरत आदिवासियीं पर लाठीचार्ज : दो मौत की खबर …

19.03.2019

{ गोपाल राठी की फेसबुक वाल से }

अभी हाल ही में हमारे देश में पाकिस्तान के साथ जंग को समर्थन देकर अपनी देशभक्ति साबित करने की लहर सी चल रही थी। लेकिन यह लहर अपने ही देश में किसानों-मजदूरों- आदिवासियों के साथ हमारे कार्पोरेट समर्थक सरकार की जंग को लेके चुप्पी साध जाती है।

इस जंग की सबसे ताजा वारदात घटी आज ओडिशा के कालाहांडी जिले के लांजीगढ़ में जहां वेदांता के प्लांट के लिए अपनी जमीन हार चुके आदिवासी, वेदांता के लांजीगढ़ स्थित रिफाइनरी में नौकरी मांगने पहुंचे और वहां पर सुरक्षा गार्डों ने गोली चला दी।

इस गोलीबारी में दो व्यक्ति की मौत हो गई है और 50 घायल हैं। इस घटना पर बोलते हुए नियामगिरि सुरक्षा समिति से सत्या महार ने बताया कि प्लांट के लिए जमीन देते वक्त इन आदिवासियों से वेंदाता ने वादा किया था कि वह इन्हें शिक्षा, बिजली और पानी मुफ्त में मुहैया करवाएगी। यह अनुबंध कुछ सालों तक तो चला लेकिन अभी कुछ दिनों पहले कंपनी ने एकाएक ने यह सभी सुविधाएं बंद कर दीं। इस वादाखिलाफी से नाराज आदिवासी आज संगठित रूप से कंपनी के प्लांट पर वार्ता कर नौकरी मांगने गए थे, उसी समय यह गोलीबारी हुई जिसमें कथित रूप से 50 लोग घायल हैं और दो या तीन जानें भी जा चुकी हैं।

इस घटना की विस्तृत जानकारी के लिए हम आपके साथ सेव नियामगिरि के फेसबुक पेज की पोस्ट साझा कर रहे हैं (पोस्ट का अनुवाद अंकुर ने किया है):

हमको खबर मिल रही है कि दीना बत्रा को लांजीगढ़ स्थित वेदांता की रिफायनरी के पास वेदांता के सुरक्षाकर्मियों और पुलिस द्वारा मार दिया गया है. घटना की पूरी खबर आने पर हम आपको फिर से अपडेट करते रहेंगे.

12.20 PM पर अपडेट: लांजीगढ़ में वेदांता रिफायनरी के सामने अभी तुरंत हो रहे लाठी चार्ज में दीना की मौत हो गई है. वेदांता फैक्ट्री के लिए अपनी जमीन खो चुके तीन गाँवों के लोग अपने बच्चों की शिक्षा की मांग के लिए यहाँ आए हुए हैं.

12.40 PM पर अपडेट: यहाँ लांजीगढ़ में भयानक रूप से पुलिस का दमन चल रहां है, पुलिस यहाँ सड़कों पर हर किसी किसी को बुरी तरह पीट रही है. बसंतपाड़ा गाँव पर भी पुलिस ने हमला किया है.

12.55 PM पर अपडेट: दो लोग बुरी तरह घायल हैं और मौत से लड़ रहे हैं जबकि 30 लोगों को काफी ज्यादा चोटें लगी हैं

2.36 pm पर अपडेट: एक लोकल अख़बार की खबर के मुताबिक पुलिस की हिंसा में अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है.

फैक्ट्री के मेंन गेट के सामने धारा 144 लगा दी गई है.i

***

Be the first to comment

Leave a Reply