1.02.2019 कोरबा 

भूमि अधिग्रहण होने पर बाजार भाव का 4 गुना मुआवजा देने संबंधित विधेयक को छग विधानसभा में पारित कराने के लिए मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन एवं माननीय राज्य मंत्री जय सिंह अग्रवाल  का    ऊर्जा धानी भू विस्थापित संघ कोरबा ने बहुत बहुत आभार एवं धन्यवाद दिया है.

कांग्रेस की जन घोषणा पत्र में भूमि अधिग्रहण के मामले में बाजार भाव का 4 गुना मुआवजा देना , शामिल किया गया था जिसको वर्तमान कांग्रेस सरकार ने कल विधानसभा के बजट सत्र में पारित किया है इसको पारित कराने के लिये ऊर्जा धानी भू विस्थापित संघ एवं SECL गेवरा ,दीपका, कुसमुंडा व कोरबा परियोजना से प्रभावित सभी किसानों की ओर से बहुत बहुत आभार एवं धन्यवाद ।

इस विधेयक के पास हो जाने के बाद एसईसीएल कुसमुंडा की प्रभावित ग्राम पाली,पद्निया,सोनपुरी,रिस्दी,गेवरा परियोजना से प्रभावित ग्राम भिलाई बाज़ार,बरभान्ठा,सलोरा,रलिया,पन्डरीपानी,दीपिका परियोजना से प्रभावित ग्राम सुवाभोंडी,हरदी बाज़ार,मलगांव,रेन्की कोरबा परियोजना से प्रभावित ग्राम अम्बिका,करतली को इसका लाभ मिलेगा ।

पिछली राज्य सरकार ने केंद्र सरकार द्वारा जारी भूमि अधिग्रहण कानून को शिथिल करते हुए सितंबर 2017 में एक आदेश सभी जिला कलेक्टर को जारी किया था जिसके अनुसार ग्रामीण क्षेत्र मे वर्तमान बाजार भाव का 4 गुना मुआवजा राशि की बजाए 02 मुआवजा दिया जाना था इस आदेश के बाद SECL प्रभावित क्षेत्र के सभी किसान लगातार आंदोलन और हड़ताल के माध्यम से इसका विरोध करते आ रहे थे, लेकिन फिर भी भाजपा सरकार ने इस आदेश को निरस्त नहीं किया जिसके कारण से SECL प्रभावित किसानों को बहुत कम मुआवजा मिल पा रहा था ।

अब वर्तमान सरकार द्वारा विधानसभा में जब यह पारित कर दिए गया हैं तो प्रभावित परिवारों को वर्तमान बाजार भाव का 4 गुना मुआवजा मिलेगा।

ऊर्जा धानी भू विस्थापित संघ कोरबा