दलित चिन्तक ,साहित्यकार ,सामाजिक कार्यकर्त्ता  प्रोफ़ेसर आनंद तेलतुम्बडे के खिलाफ दर्ज आपराधिक मुकदमे और गिरफ्तारी की सम्भावना के खिलाफ बिलासपुर में प्रदर्शन ,राष्ट्रपति को सोम्पा ज्ञापन ; बिलासपुर नागरिक संयुक्त संघर्ष समिति.

बिलासपुर / 11.02.2019

आज बिलासपुर के नेहरु चौक पर बिलासपुर नागरिक संयुक्त संघर्ष समिति और अन्य सामाजिक संघठनो ने प्रदर्शन किया और केंद्र तथा महाराष्ट्र सरकार द्वारा मानव अधिकार कार्यकर्ताओ के खिलाफ की जा रही झूठी और बदनीयत पूर्वक की जा रही कार्यवाही की निंदा की तथा भीमा कोरेगाँव प्रकरण में आनन्द तेल तुम्बडे  के खिलाफ की जा रही प्रताड़ना के खिलाफ कलेक्टर के माध्यम से ज्ञापन दिया .

ज्ञापन में कहा गया है  कि पूरे देश में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ,साहित्यकारों ,लेखक हो या दलित आदिवासी अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ तरह तरह के झूठे मुक़दमे दर्ज किये जा रहें हैं ,उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है .भीमा कोरेगाँव में दलितों की सक्रियता के नाम पर उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा हैं.

पिछले चार साल में केंद्र की सरकार ने विभिन्न राज्यों में जनतंत्र , संविधान और धर्म निरपेक्षता  के लिए काम करने वाले  कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है ,उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा हैं.

पिछले एक साल में छत्तीसगढ़ में मजदूरों के लिए लड़ने वालीं अधिवक्ता सुधा भारद्वाज को  गिरफ्तार किया गया और ऐसे ही पुरे देश में प्रोफ़ेसर शोमा सेन ,महेश राउत ,रोना विल्सन ,सुधीर धवले ,सुरेन्द्र गाडगीळ ,वर्णन गोंजवेल्ज़ ,अरुण फरेरा ,गौतम नवलखा ,वरवरा राव,गौतम नवलखा और स्वामी स्टेन के खिलाफ झूठे मुक़दमे दर्ज किये गए और बहुत से कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया.

प्रोफ़ेसर आनंद तेलतुम्बड़े दलित चिन्तक और साहित्यकार है जिन्होंने कई पुस्तकें लिखी है जो भारत के कई विश्व विद्यालय में पढाई जाती है वे दलितों के साथ खड़े रहकर इन्हें शिक्षित करने और अन्याय के खिलाफ खड़े होने के लिये  काम करते रहें हैं . उन्हें भीमा कोरेगाँव के झूठे केस में जोड़ कर उनके खिलाफ कई मुकदमे दर्ज किये गए और पिछले दिनों सुप्रीमकोर्ट के आदेश के बाबजूद उन्हें मुंबई में गिरफ्तार किया गए जिन्हें बाद में पुणे कोर्ट और मुंबई हाईकोर्ट ने गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी .

आज फिर उन्हें गिरफ्तार किया जा सकता है . हम बिलासपुर नागरिक संयुक्त संघर्ष समिति के लोग इन सब कार्यवाही का विरोध करते है .

नेहरू चौक पर प्रदर्शन के बाद कलेक्टर को ज्ञापन दिया.

आज के प्रदर्शन में अधिवक्ता गायत्री सुमन ,नन्द कश्यप ,शाकिर अली, किशोर नारायण ,पवन शर्मा ,  डिग्री प्रसाद चौहान ,आशीष बेक    रजनी  सौरेन अधिवक्ता ,प्रियंका शुक्ला ,आमना बेगम रायगढ़ ,चन्द्र कुमारी लहरे, लव तिवारी ,नीलोत्पल शुक्ल ,संपा सिकदार , हेमंत अनंत ,विभीषण पात्रे ,योगेश्वर शर्मा ,डा . सत्यभामा अवस्थी, शिखा पाण्डेय ,निकिता अग्रवाल ,अनुज श्रीवास्तव ,डा. लाखन  सिंह आदि थे. 

Be the first to comment

Leave a Reply