सामाजिक एवं मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के साथ खड़ी हैं सरकार : भूपेश बघेल मुख्यमंत्री .

10.01.2019 रायपुर .

सामाजिक कार्यकर्ता बेला भाटिया को कल अनशन पर बैठने के लिये मजबूर होने पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कडे तेवर दिखाये और पुलिस प्रशासन को सख्त संदेश देते हुये लिखा कि ” प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता बेला भाटिया जी को कल जेल परिसर में सत्याग्रह करने को मजबूर होना पड़ा ,यह बेहद दुखद हैं .कांग्रेस की सरकार सभी सामाजिक एवं मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के साथ खडी हैं. में पूरा प्रयास करूंगा कि आप सभी को भविष्य में एसी किसी परेशानी का सामना न करना पड़े.”

बेला भाटिया कल रात जगदलपुर जेल वकील होने के नाते अपने मुवक्किल के सबंध में कुछ जानकारी लेने गई थी. जेल अधीक्षक ने जानकारी देने से इंकार कर दिया था .इस पर बेला भाटिया वहीँ धरने पर बैठ गईं .आखिर रात को दो बजे वे जानकारी देने को तैयार हुये तब जाकर सत्याग्रह खतम हुआ.
मुख्यमंत्री को सुबह जानकारी मिलने पर उन्होंने नाराजी प्रगट की .

बस्तर में यही सब होता रहा हैं. यह ट्वीट बस्तर पुलिस के साथ साथ पूरे प्रशासन को संदेश भी हैं कि वे सामाजिक कार्यकर्ताओं से संवैधानिक प्रावधानों के तहत ही पेश आये.

वहीं दूसरी तरफ भाजपा विधायक और पूर्व मंत्री अजय चंन्द्राकर अभी भी विधान सभा में नंदनी सुंदर पर अपनी पार्टी की हार का ठीकरा फोड रहे है .उनके आज विधानसभा में कहा कि नंदनी सुंदर भीमा कोरेगांव हिंसा में अभियुक्त है .

एस आर पी कल्लूरी की नियुक्ति पर चारों तरफ से आलोचना की बोछार के बीच मुख्यमंत्री का यह बयान बहुत महत्वपूर्ण है.
**

Leave a Reply