दस्तावेज़ ःः रवांडा : संसद में 67.5% हुई महिलायें.

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

9.11.2018

लोकजतन अंतर्राष्ट्रीय डैस्क

खबरों के अनुसार संसद में महिलाओं के प्रतिनिधित्व के मामले में रवांडा ने अपने ही रिकॉर्ड को तोड़ दिया है । पिछली संसद की 64% की तुलना में नवनिर्वाचित पार्लियामेंट में महिला सांसदों की संख्या बढ़कर 67.5 % हो गई है । कुल 80 सीटों में से महिलाएं 54 सीट्स जीत चुकी हैं .

 

● पिछले सप्ताह घोषित हुए चुनाव परिणामों की घोषणा के बाद यह नतीजे सामने आए । इन चुनावों में राष्ट्रपति कागमे की पार्टी आरपीएफ ने 74% वोट्स हासिल किए ।
● हालांकि इन दिनों यह पूर्वी अफ्रीकी देश लोकतांत्रिक अधिकारों के मुद्दे पर भी चर्चाओं में हैं । इसकी विपक्ष की नेता डायना इन दिनों जेल में हैं और मुकद्दमों का सामना कर रही है ।

● रवांडा के राष्ट्रपति पॉल कागमे का एक और रूप है : कठमुल्लापन और पोंगापंथ के खिलाफ सुधारक का रूप । पिछले दिनों उन्होंने अपने देश मे 6000 चर्च और मस्जिदों को बंद कर दिया था । दर्शनशास्त्र और धर्मशास्त्र की पूरी पढ़ाई के बाद डिग्री हासिल करना हर धार्मिक नेता के लिए अनिवार्य कर दिया था । उनका कहना है कि लोगों की आस्थाओं के साथ खिलवाड़ करना और धर्म और आस्था के नाम पर धंधा करना बंद होना चाहिये । रवांडा अपने आप मे ही धन्य और आनंदित देश है । उसे इन टोटकों की आवश्यकता नही है ।

● यह वही देश हैं जहां पिछली जुलाई में प्रधानमंत्री मोदी 200 गऊएं लेकर गए थे । रवांडा जाने वाले “पहले भारतीय प्रधानमंत्री” मोदी का उस देश मे गायें लेकर जाना चर्चा का विषय बना था जिस देश मे जनता प्रति वर्ष 12 किलो बीफ की उपलब्धता सुनिश्चित कराने की मांग को लेकर का आंदोलनरत है । उनकी शिकायत है कि फिलहाल उन्हें सिर्फ 6 किलो मिल पा रहा है ।

**

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

CG Basket

Next Post

मानव अधिकार रक्षक एग्नेस खर्शींग और उनकी सहकर्मी पर जानलेवा हमला की छत्तीसगढ़ पी.यू.सी.एल. घोर निंदा करता है

Fri Nov 9 , 2018
Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.रायपुर, 9.11.2018 संघर्ष में हमारी साथी और इंडियन सोशल एक्शन फोरम (इन्साफ) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति सदस्य सुश्री एग्नेस खर्शींग और उनकी सहकर्मी पर कोंग ओंग के पास आज दोपहर में जानलेवा हमला किया गया, जो पूर्वी जैनिशिया पहाड़ियों में राष्ट्रीय राजमार्ग […]