तख्त बदल दो ताज़ बदल दो ,बेईमानों का राज बदल दो .ःः राजनैतिक चैतना के लिये मजदूरों ने पर्चे बांटे

6.11.2018

बोरिया गेट पर नवजनवादी लोक मंच, छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा(मजदूर कार्यकर्ता समिति) द्वारासुबह 6 से 8.30 बजे तक पर्चा वितरण किया गया, जिसमे प्रथम पाली से छूटने वाले सभी कर्मचारियों को आव्हान किया गया की सूझ बूझ कर मताधिकार का प्रयोग करना हैलोकतंत्र का मतलब होता है जनता का सरकार जनता को स्वतंत्रता अपनी दुखों को समस्याओं को खुल कर रख सके मजदुरो को, किसानों को छात्रों  को महिलाओं को उनका वाजीब अधिकार मिले, संविधान का सम्मान हो, शाशकीय अस्पताल का सर्वसुविधा युक्त करण हो सरकारी स्कूलों को प्राथमिकता हो निजी करण बंद हो,ठेकेदारी प्रथा बंद हो, सामाजिक कार्यकर्ता, मानवाधिकार कार्यकर्ता, ट्रेड यूनियन कार्यकर्ता जो जेल में बंद है उन्हें रिहा करो,

मजदूरो का समान काम समान वेतन लागू करो, जल जंगल जमीन को कारपोरेट के हाथों बेचना बंद करो जाती धर्म के आड़ में राजनीति न हो यह सब लोकतंत्र में निहित है इसीलिए संविधान कहता है कि जो भो लोकतंत्र और संविधान का उलंघन करता है उसे मताधिकार का प्रयोग कर के बदलो, और बदलते रहो ताकि लोकतंत्र को अक्षुण्ण रख सके।जनता के आवाज को गोहार को लाठी, गोली, जेल से दबाने का काम अलोकतांत्रिक है संविधान का हनन है,संविधान यह भी कहता है झूठ और लालच देकर जनता को गुमराह करना जन विरोधी है।आज हम सब को सम्प्रभुत्व को बनाए रखे रहने के लिए मताधिकार का प्रयोग सोच समझ कर करें,लोकतंत्र में जनता सर्वोपरि है

*
जी एन सिंह, सुरेन्द्र मोहन्ती, अभिषेक, विजय, कलादास

Leave a Reply

You may have missed