छतीसगढ ःः घोटाले और भृष्टाचार की भाजपा सरकार .

6.11.2018 ःः रायपुर 

1. ओ पी चौधरी – दन्तेवाड़ा ज़मीन घोटाला

 पूर्व कलेक्टर एवं अब के भाजपा नेता चौधरी ने दन्तेवाड़ा में कलेक्टर रहते ज़मीन की अदला बदली कर शासकीय ज़मीन निजी लोगो को दी । 4 भाजपा नेताओं की निजी भूमि के बदले में महंगी सरकारी भूमि से अदला बदली की गई । अब सरकारी भूमि पर करोड़ो का शॉपिंग काम्प्लेक्स बनकर चालू है । ओपी चौधरी सहित 4 आईएएस अधिकारी इस मामले में हाइकोर्ट द्वारा दोषी पाए गए । जांच का आदेश एवम जुर्माना लेकिन कोई कार्रवाई नहीं । आदेश की अवमानना हुई । ओपी चौधरी अब भाजपा के लाडले नेता बन मुख्यमंत्री पद के दावेदार ।

2 रमन सिंह मुख्यमंत्री

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा अगस्ता वेस्टलेन्ड हेलीकॉप्टर खरीदी में कमीशन खोरी । प्रदेश के मुख्यमंत्री रमन सिंह और उनके पुत्र अभिषेक सिंह का नाम पनामा पेपर लीक से सामने आया । कमीशन का पैसा अभिशाक सिंह के नाम से विदेश में बैंक खाता, घर का पता रमन मेडिकल स्टोर, कवर्धा छत्तीसगढ़ दर्ज, 10 लाख डॉलर जमा हुआ । मामला सुप्रीम कोर्ट में ।

3. बृजमोहन अग्रवाल-

कृषि मंत्री ने सरकारी जमीन पर कब्जा कर रिसोर्ट बनाया । महासमुन्द के जलकी गांव की सरकारी ज़मीन का मामला ।

4.अमर अग्रवाल

आबकारी मंत्री । पेंड्रा के भदौरा गांव की 85 एकड़ सरकारी ज़मीन पर अमर अग्रवाल ने कब्जा किया । कोर्ट की जांच बीच ही रोक दी गई ।

5.अजय चन्द्राकर

पंचायत एवम ग्रामीण विकास मंत्री । आय से अधिक संपत्ति मामला । सेबी द्वारा मामले की जांच । बिलासपुर हाई कोर्ट में केस दर्ज । गवाहों को धमकाने का आरोप ।

7. केदार कश्यप

स्कूल शिक्षा मंत्री की पत्नी के स्थान पर अन्य महिला परीक्षा देते हुए पकड़ी गई । कोई कार्रवाई नहीं ।

8. पुन्नुलाल मोहिले

 

खाद्य मंत्री के कार्यकाल में नागरिक आपूर्ति निगम (नान) घोटाला । सरकारी राशन दुकान के लिये चावल खरीदी एवम परिवहन में अरबों का घोटाला .

9.राजेश मूणत-

परिवहन मंत्री । चुंगी नाका में ट्रक मालिकों से। एंट्री के नाम पर अरबों रुपयों की अवैध वसूली । सड़क निर्माण घटिया बनवाकर अवैध कमाई .

10. गौरीशंकर अग्रवाल

विधानसभा अध्यक्ष । रायपुर में मंदिर की शासकीय भूमि पर कब्जा कर दुकान बना दी । दोषी पाए गए, लेकिन सजा नहीं, सिर्फ दूकान गिरा दी गई ।

***

Leave a Reply

You may have missed