छत्तीसगढ़ महतारी ने खो दिया अपना दुलरवा बेटा :  नहीं रहे जन कवि लक्ष्मण मस्तुरिया. : आप ने दी श्रधांंजली 

3.11.2018 रायपुर 

छत्तीसगढ़ महतारी के दर्द को शब्दों में पिरोकर जन चेतना जागृत करने वाले प्रदेश के सशक्त हस्ताक्षर लक्ष्मण मस्तुरिया आज हमारे बीच नहीं रहे यह हम सब के लिए दुख की घड़ी है श्री मस्तुरिया के आकस्मिक निधन पर आम आदमी पार्टी कार्यालय में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में बोलते हुए आम आदमी पार्टी के संयोजक डॉ संकेत ठाकुर ने उक्त बातें कहीं उन्होंने आगे कहा कि उनसे जुड़े जीवन अनेक प्रसंग आज याद आते हैं खास तौर पर इस बात का जिक्र करना आवश्यक लगता है कि छत्तीसगढ़ महतारी की वेदना से व्यथित एक साहित्यिक मनीषी ने किस तरह से अपने कर्म क्षेत्र को विस्तारित करते हुए राजनीति में उतर कर आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी बनकर 2014 के लोकसभा चुनाव में हम सब का संबल बने श्री ठाकुर ने रूँधे स्वर में बोलते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ की बदहाली को लेकर श्री मस्तुरिया के हृदय में जो बेचैनी थी उसे महसूस कर पाना शायद हमारे लिए मुश्किल है मगर आज उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए यही कहूँगा कि आज छत्तीसगढ़ महतारी ने अपना दुलरवा बेटा खो दिया है

 

 श्रद्धांजलि सभा में अपने संस्मरण बताते हुए उन्होनें यह भी कहा कि श्री मस्तुरिया के छतीसगढ़ की पीड़ा से सरोकार का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है जब आम आदमी पार्टी ने छत्तीसगढ़ में अपने काम की शुरूआत की तो वे सहर्ष पार्टी से जुड़ने तैयार हुए और महासमुन्द से चुनावी समर में उतरने के पार्टी के आग्रह को स्वीकार किया ,आज की सभा में पार्टी के सह संगठन मंत्री रवि मानव,चुनाव सह संचालक सुरेश कठैत , केन्द्रीय पर्यवेक्षक आशुतोष कुमार , वार रुम सदस्य धनंजय सिन्हा , अरविंद राज़पूत , संजय मोर, हाजी अज़ीम खान , प्रकाश झरिया एवं मनु रंजन सहित अनेक पार्टी जन शामिल थे 

**

Leave a Reply

You may have missed