दंतेवाड़ा ,पालनार : भाजपा नेता पर जानलेवा हमला : नक्सली हमला या राजनैतिक साजिश .

28.10.2018

लिंगाराम कोडपी की रिपोर्ट
छत्तीसगढ़ राज्य के दन्तेवाड़ा जिला ग्राम पालनार में कल रात B.J.P. कार्यकर्ता व जिला पंचायत सदस्य अमन नंदलाल मुड़ामी पिता पांडु मुड़ामी के घर पर धार – धार हथियार से 28/10/2018 कल रात करीब आँठ बजे हमला हुआँ हैं। अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि हमला किसने किया हैं। यह हमला नक्सलियों द्वारा भी हो सकता हैं और राजनैतिक साजिश भी हो सकती हैं। नंदलाल मुड़ामी कि हालत कल तक नाजुक थीं, नाजुकता को देखते हुए दन्तेवाड़ा जिला अस्पताल से रायपूर रिफर कर दिया गया हैं।
कल जिला अस्पताल में पुलिस प्रशासन से पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव और जिला प्रशासन से कलेक्टर सौरभ कुमार व जिले के अन्य राजनैतिक दलों के नेता भी पीड़ित को देखने पहुँचे। दन्तेवाड़ा जिला अस्पताल रात के 12 बजे तक युवाओं और राजनैतिक दल के पदअधिकारियों से भरा हुआँ था।
आज सुबह A.A.P. कार्यकर्ता व बस्तर की आदिवासी सामाजिक कार्यकर्ता सोनी सोरी घटना का जायजा लेने ग्राम पालनार पहुंची और परिजनों से मुलाकात किया। ग्राम पालनार के तमाम युवाओं से भी सोनी सोरी ने घटना के विषय पर चर्चा किया और प्रथम सूचना रिपोर्ट ( F.I.R.) के लिये अमन नंदलाल मुड़ामी के भाई दीपक मुड़ामी को लेकर पुलिस थाने कुआकोण्डा लेकर गई हुई हैं।
यह वही ग्राम पालनार हैं जहाँ कैशलेस के नाम से पूरे भारत देश में जाना जाता हैं। यह वहीं नंदलाल मुड़ामी हैं जिनको दन्तेवाड़ा विधानसभा क्षेत्र से B.J.P. विधायक के लिए लड़ाने वाली थीं लेकिन किसी कारणवश टिकट नहीं दिया गया। नंदलाल पालनार क्षेत्र से उभरता हुआँ चेहरा था फिर उस पर हमला होना यह दिखाता हैं कि नंदलाल कि लोकप्रियता से किसी न किसी को खतरा हैं। नंदलाल कि लोकप्रियता से किसको खतरा हो सकता हैं?
आज सुबह जब हम पालनार ग्राम पहुँचे तो पीड़ित के परिवार से मिले गाँव के ग्रामीणों से भी मिले सुबह 10 बजे से शाम 3 बजे तक पालनार ग्राम में मौजूद थे लेकिन कोई भी B.J.P. पार्टी कार्यकर्ता व B.J.P. से बड़ा राजनैतिक चेहरा देखने को नहीं मिला।
दन्तेवाड़ा जिले के सभी राजनैतिक कार्यकर्ताओं और राजनैतिक पार्टियों को घटना स्थल पर कल पहुँच जाना चाहिए था लेकिन कोई नहीं आया। आज नंदलाल के उफर हमला हुआँ हैं कल किसी और पर हमला हो सकता हैं। इसलिए तमाम राजनैतिक पार्टियों के कार्यकर्ता व वरिष्ठ नेताओं को मिलकर बात करना चाहिए।

,***

Leave a Reply