भाकपा( मा-ले) रेड स्टार का आठवां राज्य सम्मेलन 10- 11 अक्टूबर को राजिम में संपन्न सौरा यादव बने पुनः राज्य सचिव, ,/ बिन्द्रानवागढ़ और राजिम से प्रत्यशीयों की घोषणा .

12.10.2018

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी-लेनिनवादी) रेड का आठवां राज्य सम्मेलन 10,11 अक्टूबर2018 को

यादव (ठेठवार) धर्मशाला राजिम छत्तीसगढ़ में संम्पन्न हुआ। यह सम्मेलन पार्टी का 11वां महासम्मेलन बैंगलोर, कर्नाटक में आगामी 27 नवंबर से 1 दिसम्बर2018 को आयोजित होने की निरंतरता में हुआ है। राज्य सम्मेलन में पार्टी के महासचिव के एन रामचन्द्रन बतौर केंद्रीय पर्यवेक्षक उपस्थित रहे। सम्मेलन में पार्टी की राजनीतिक, सांगठनिक विषयों के ऊपर गंभीर चर्चा हुआ और जल जंगल जमीन तथा पर्यावरण की रक्षा के लिए संघर्ष, जमीन की छोटे टुकड़ों की रजिस्ट्री पर प्रतिबंध के खिलाफ, आवारा पशुओं को सुरक्षित व व्यस्थित करने के लिए, विस्थापन के खिलाफ संघर्ष करने सहित कुल 17 प्रस्ताव सम्मेलन ने पारित किया है। सम्मेलन में ग्यारह सदस्यीय राज्य कमेटी का गठन हुआ जिसने सौरा यादव को पुनः राज्य सचिव चुने गए।

पार्टी महासचिव रामचन्द्रन ने कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार भी पूर्व की सरकार के नक्शे कदम पर चलते हुए और ज्यादा आक्रामक रूप से किसान-मजदूर विरोधी नीतियों को लाद रही है। किसानों की कर्जमाफी, समर्थन मूल्य के आंदोलनों को बर्बता से कुचलने वाली मोदी सरकार देश की उद्योगपतियों के हजारों करोड़ रुपये माफ कर देती है। देश व छत्तीसगढ़ में भाजपा के कई नामी नेताओं और मंत्रियों पर जमीन घोटाला, नान घोटाला, पनामा पेपर लीक आदि के मामले सामने आए हैं। विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, ललित मोदी जैसे कई उद्योगपति व कारोबारी भाजपा सरकार के राज में देश से हजारों करोड़ रुपयों की हेराफेरी करके विदेश भाग चुके है। इससे स्पष्ट है कि नोटबन्दी की आड़ में भ्रस्टाचारियों के काला धन को देश के भीतर ही सफेद धन में बदल दिया गया है। प्रधानमंत्री मोदी के काला धन वापस लाने, भ्रस्टाचार और आतंकवाद पर लगाम कसने आदि के सारे झूठे दावों की पोल खुल चुकी है।

भाकपा (मा-ले) रेड स्टार एक जन विकल्प का निर्माण करने के लिए प्रतिबद्ध है जो नव उदारवादी नीतियों को खारिज करने, सभी क्षेत्रों के जनवादीकरण के लिए कार्य करने , जातिविहीन और सच्चे धर्मनिरपेक्ष नीतियों के पक्ष में दृढ़ता के साथ खड़ा होने तथा जनपक्षीय व पर्यावरण संरक्षण के लिहाज से टिकाऊ विकास के प्रतिमान के लिए काम करेगा। यह विकल्प स्वतंत्र वाम दावेदारी को मजबुती प्रदान करेगा। जनता के घोषणा पत्र के आधार पर राज्य स्तर से लेकर अखिल भारतीय स्तर तक भाकपा (मा-ले) रेड स्टार चुनाव के मैदान में उतरेगी और छत्तीसगढ़ में दो विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र से वरिष्ठ वामपंथी नेता व लंबे समय तक आदिवासी कल्याण एवं सामाजिक मुद्दों पर जमीनी संघर्ष करने वाले साथी भोजलाल नेताम तथा गरियाबंद जिले में किसानों व मजदूरों की समस्याओं को लेकर लगातार संघर्षरत किसान नेता तेजराम विद्रोही राजिम विधानसभा से पार्टी के प्रत्याशी होंगे।

Leave a Reply

You may have missed