बिरगांव में दो लोगों के आपसी विवाद के चलते दो समुदायमें झड़प, तनाव के बाद भारी पुलिस बल मौके पर मौजूद :- जावेद अख्तर

,सलाम छत्तीसगढ़…   देखें वीडियो…
रायपुर (07 अक्टूबर 2018)
आज सुबह लगभग 10 बजे अलग-अलग समुदाय के दो लड़कों के बीच के आपसी विवाद ने दो गुटों में तनाव की स्थिति पैदा कर दी। दरअसल दशहरा पर्व की तैयारियों को लेकर नगर स्तर पर आयोजित संघ पथ संचलन अभ्यास के दौरान जैसे ही बिरगांव पहुंचा, वहां पर पहले से ही दो लड़कों के बीच आपसी विवाद के चलते बहसबाज़ी चल रही थी,जिसके चलते संघ का संचलन रूक गया। किंतु इसी दौरान दोनों समुदाय के कुछेक लड़कों ने बहस करते हुए एक दूसरे को गाली दे दिए, जिसके बाद दो पक्षों में टकराव की स्थिति पैदा हो गई।
दोनों गुटों के काफी लोग एकत्रित हो गए, एक पक्ष के कुछ लोगों ने संचलन को गुजरने से मना कर दिया, जिसके कारण दूसरे पक्ष ने पत्थरबाज़ी शुरू कर दी।

 दोनों गुटों के कुछेक स्थानीय निवासियों से बातचीत होने पर जानकारी प्राप्त हुई, जिनके मुताबिक,मामले को नाहक ही तूल दिया गया, दो लड़कों के आपसी विवाद के कारण दो गुटों में तनाव की स्थिति उपजी। दो गुटों में हंगामा होने की वजह से एरिया को पूरी तरह से ब्लॉक कर दिया गया है।

लेकिन जैसे ही पुलिस को सूचना मिली वह मौका स्थल पर पहुंचकर भीड़ को तितर बितर किए। इस दौरान बहुसंख्यक वर्ग की पुलिस वालों से भी झड़प की खबरें है तो वहीं पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़ और पथराव भी किया गया।

उरला क्षेत्र में दो गुटों में हुए विवाद के बाद स्थिति अभी भी तनावपूर्ण बनी हुई है।

एसपी अमरीश मिश्रा और एसडीएम संदीप अग्रवाल भी पहुंच गए। पुलिस का कहना है कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। पुलिस की तैनाती कर दी गई है, परिस्थितियों से निपटने के लिए तैयार है।
आदर्श आचार संहिता लगने वाले दिन ही इस तरह की घटना सामने आने से लोग इसको दूसरे नज़रिए देख रहें हैं।
याद होगा कि इसी तरह का विवाद 15 अक्टूबर, 2016 में भी हुआ था, जिसमें दो युवक सुनील निषाद और सलीम खान के बीच आपसी विवाद ने दो समुदाय में तनाव पैदा कर दिया था और पत्थरबाज़ी भी हुई थी।
स्थानीय लोगों से बातचीत के आधार पर स्पष्ट हो रहा कि उक्त घटना में भी ऐसा ही है, जिसके चलते नाहक ही दो गुटों में तनाव और झड़प की स्थिति पैदा हुई। वहीं पुलिस ने भी दोनों समुदाय को शांति बनाए रखने की अपील की है। पुलिस मामले की पूछताछ भी कर रही है ताकि जल्द से जल्द विवाद को खत्म किया जा सके। 
**
ज़ावेद अख्तर ,सलाम छतीसगढ

Leave a Reply