राजनांदगांव के किसान 14 से करेंगे पदयात्रा, 17 को रायपुर पहुंचकर करेंगे आमसभा, सौंपेंगे ज्ञापन

 

राजनांदगांव , 8.09.2018

राजनांदगांव के सैकड़ों अपनी विभिन्न मांगों को लेकर किसान जिला किसान संघ के झंडे तले 14 सितम्बर से राजनांदगांव से पदयात्रा शुरू करेंगे और 17 सितम्बर को रायपुर पहुंचकर आमसभा करेंगे और मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपेंगे. किसान संघ के नेता सुदेश टीकम, मदन साहू, चंदू साहू आदि नेताओं ने आज यहां इस कार्यक्रम की घोषणा की.

उन्होंने बताया कि यह पदयात्रा जिले के सभी गांवों में फसल बीमा का भुगतान करने, वर्ष 2014-16 तक का धान बोनस देने, किसानों को क़र्ज़मुक्त करने, चना की खरीदी न करने से किसानों को हुए नुकसान की 7000 रूपये प्रति एकड़ की दर से भुगतान करने और वनाधिकार कानून के तहत वन भूमि पर काबिज आदिवासियों को व्यक्तिगत व सामुदायिक पट्टे देने आदि मांगों को पूरा करने के लिए की जा रही है.

किसान नेताओं ने कहा कि भाजपा की रमन सरकार ने अपने चुनावी वादों को पूरा करने के बजाये किसानों के साथ छल ही किया है. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ किसानों के बजाये बीमा कंपनियों को ही हुआ है. किसानों की कर्जमुक्ति के लिए इस सरकार के पास पैसे नहीं है, लेकिन कॉर्पोरेट कंपनियों के बैंकिंग क़र्ज़ के 4 लाख
करोड़ रूपये बट्टे-खाते में डाल दिए गए हैं. किसानों से चना का उत्पादन तो कराया गया, लेकिन समर्थन मूल्य पर खरीदी की कोई व्यवस्था न होने से प्रदेश के किसानों को 1600 करोड़ रुपयों का नुकसान झेलना पड़ा है. वनाधिकार कानून लागू होने के बावजूद प्रदेश के आदिवासियों को जल-जंगल-जमीन से बेदखल किया जा रहा है और उनके वनाधिकारों को मान्यता नहीं दी जा रही है.

किसान नेताओं ने कहा कि छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन और उससे जुड़े घटक संगठनों का इस पदयात्रा को पूरा समर्थन और सहयोग है. 17 सितम्बर को हजारों किसान पदयात्रा करके रायपुर पहुंचेंगे, अपनी मांगों को लेकर आमसभा करेंगे और भाजपा द्वारा किसानों से किए गए चुनावी वादों की याद दिलाएंगे. वे मुख्यमंत्री से मिलकर उक्त मांगों को पूरा करने की भी मांग करेंगे.

 

सुदेश टेकाम रमाकान्त बंजारे संजय पराते आलोक शुक्ला

Leave a Reply

You may have missed