काश… मेरे छत्तीसगढ़ में भी एकाध स्कूल वांगचुक के स्कूल जैसा होता. : लेह-लद्दाख से राजकुमार सोनी .

 

आजकल राजकुमार सोनी एक ग्रुप के साथ
लेह-लद्दाख की यात्रा पर है ,उनकी यह पोस्ट फेसबुक पर पढ़ी सोचा आप भी पढ़ना चाहेंगे .


**
ये है सोनम वांगचुक का वह स्कूल जहां थ्री इडियट्स फिल्म की शूटिंग हुई है। लेह-लद्दाख में सोनम वांगचुक को बच्चा- जानता है। वांगचुक के स्कूल में गरीब-अनाथ बच्चों के अलावा वे बच्चे पढ़ते हैं जो किसी भी अन्य स्कूल में फेल हो जाते हैं। जो बच्चा वांगचुक के स्कूल में पढ़ता है वह फिर कभी दोबारा फेल नहीं होता। यहां पहली से लेकर कक्षा दसवीं तक बच्चे पढ़ते हैं। सारे बच्चे होस्टल में ही रहते हैं। सुबह उठकर व्यायाम करते हैं। रस्सी कूदते हैं। संगीत की कक्षाएं अटैंड करते हैं और फिर जमकर पढ़ते हैं। सारा कुछ अनुशासन में होता है।

वांगचुक के स्कूल को देखकर लगा
काश… मेरे छत्तीसगढ़ में भी एकाध स्कूल
वांगचुक के स्कूल जैसा होता।

छत्तीसगढ़ के स्कूल में बच्चों से दुष्कर्म होता है। हर निजी स्कूल की फीस इतनी अधिक है कि
अभिवावक की कमर टूट जाती है।

**

राजकुमार सोनी ,पत्रकार ,पत्रिका 

Leave a Reply

You may have missed