पम्प के लिए प्रति हार्सपावर 200 रु से 300रु की दर से बिजली का बिल वसूला जाएगा जो किसानों का भारी शोषण . : छत्तीसगढ सरकार का एक और किसान विरोधी फ़ैसला : तेजराम विद्रोही

पम्प के लिए प्रति हार्सपावर 200 रु से 300रु की दर से बिजली का बिल वसूला जाएगा जो किसानों का भारी शोषण . : छत्तीसगढ सरकार का एक और किसान विरोधी फ़ैसला : तेजराम  विद्रोही

पम्प के लिए प्रति हार्सपावर 200 रु से 300रु की दर से बिजली का बिल वसूला जाएगा जो किसानों का भारी शोषण . : छत्तीसगढ सरकार का एक और किसान विरोधी फ़ैसला : तेजराम विद्रोही

2.08.2018/ रायपुर 

छत्तीसगढ सरकार का एक और किसान विरोधी फ़ैसला :
मुफ़्त में बिजली देने की घोषणा करने वाली सरकार मनमाना फ़्लैट रेट से किसानों से बिजली का दाम वसूलेगा,थोड़ा थोड़ा खेत अलग अलग स्थान पर होने के कारण कई किसान 2-3 बोर के लिए पम्प कनेक्शन ले रखे है। उनसे 1 कनेक्धन के बाद अन्य पम्प के लिए प्रति हार्सपावर 200 रु से 300रु की दर से बिजली का बिल वसूला जाएगा जो किसानों का भारी शोषण है। सरकार की कैबिनेट के इस फैसले का विरोध करते हुए अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्यों भोजलाल नेताम, मदन लाल साहू, तेजराम विद्रोही, ललित कुमार, बिसौहाराम, पवन कुमार, उत्तम कुमार साहू, रेखुराम साहू आदि ने कहा कि रमनसिंह सरकार का किसान विरोधी नीतियां लगातार तेज हो रही है। पिछले ग्रीष्मकालीन धान को हतोत्साहित करने के नाम पर किसानों को बिजली काटने की धमकी दिया गया था और अब जब किसान 100रु प्रति हार्सपावर की दर से पम्प कनेक्शन का बिजली बिल भुगतान कर रहे थे उसे बढ़ाते हुए अन्य पम्प कनेक्शन में 200रु से 300रु प्रति हार्सपावर की दर से बसूला जाएगा। किसानों की हालत वैसे भी खराब है जो इतना बिल प्रति माह कहा से जमा कर पायेगा।

सरकार की इस घोर किसान विरोधी निर्णय के विरोध में 9अगस्त से ग्रामीण स्तरीय अभियान के माध्यम से भाजपा सरकार की नकली किसान हितैषी चेहरे को बेनकाब करेंगे।

**

CG Basket

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account