लोगों से बिना पूछे बना है भूमि अधिग्रहण बिल-अरविन्द नेताम

लोगों से बिना पूछे बना है भूमि अधिग्रहण बिल-अरविन्द नेताम

लोगों से बिना पूछे बना है भूमि अधिग्रहण बिल-अरविन्द नेताम


Click here to enlarge image

रायपुर(निप्र) केन्द्र सरकार द्वारा बनाए गए भूमि अधिग्रहण बिल में कई प्रकार की त्रुटियां हैं इसे बनाने से पहले आम लोगों की राय तक नहीं ली गई है इससे अच्छा तो २०१३ में यूपीए सरकार द्वारा लाया भूमि अधिग्रहण बिल था नेशनल पीपुल्स पार्टी के नेता अरविंद नेताम ने गुヒवार को पत्रकारवार्ता में केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साध।उन्होंने कहा कि एनडीए के इस बिल को लेकर देश में विवाद की स्थिति है अगर ट्राइबल एरिया के लिए यह कानून बनेगा तो पेसा कानून का क्या होगा? श्री नेताम ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बस्तर यात्रा पर भी निशाना साधा उन्होंने कहा – लगा था श्री मोदी नक्सल समस्या पर सकारात्मक बयान देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ नक्सल मामले को लेकर एक तरफ गृहमंत्री राजनाथ सिंह आक्रामक हैं, तो दूसरी ओर श्री मोदी डिफेंसिव नजर आ रहे थे श्री मोदी द्वारा २६ हजार करोड़ रुपए के मेगा प्रोजेक्ट की घोषणा पर श्री नेताम ने कहा कि इसका कोई ब्लू प्रिंट नहीं है इसके लिए जमीन कहां है, पानी कहां से लाया जाएगा, इसकी कोई योजना ही नहीं बनी है यही नहीं इस प्रोजेक्ट के बारे में स्थानीय लोगों को पता ही नहीं है ३० किलोमीटर के दायरे पर एनएमडीसी और सेल बन रहा है इस तरह तो बस्तर का ट्राइबल कल्चर बर्बाद हो जाएगा ।सरकार में गो़ंड समाज की उपेक्षाः श्री नेताम ने कहा कि १९५२ से लेकर आज तक राज्य में गो़ंड समाज के लोगों को प्रतिनिधित्व नहीं दिया गया है चाहे वह अविभाजित मध्यप्रदेश हो या वर्तमान में छत्तीसगढ़ की रमन सरकार अभी तक किसी को संसदीय सचिव नहीं बनाया गया है विक्रम उसेंडी मंत्री पद के दावेदार थे, लेकिन उन्हें भी लोकसभा भेज दिया गया है ।ट्राइबल एरिया का शिक्षा विभाग बदतर हो जाएगाः राज्य सरकार ने संविधान में ट्राइबल इलाकों के लिए बने आदिवासी शिक्षा विभाग को स्कूल शिक्षा विभाग के साथ मर्ज कर दिया है मर्ज करने से पहले राज्य सरकार ने भारत सरकार से अनुमति ली है मर्ज करने के कारण अब ट्राइबल एरिया का शिक्षा विभाग बदतर हो जाएगा, क्योंकि सौतेला व्यवहार होगा प्रशासनिक व्यवस्था में फर्क पड़ेगा साथ ही बजट भी कम हो जाएगा ।प्रदेश के लोगों को ही मिले मौकाः श्री नेताम ने आउटसोर्सिंग का विरोध करते हुए कहा कि प्रदेश में लाखों लोग बेरोजगार हैं, अब बाहर से भी लोग आ जाएंगे तो उन्हें मौका कम मिलेगा साथ ही हेराफेरी की आशंका भी बढ़ जाएगी ।पर्रिकर की तारीफः एनडीए सरकार के एक साल पूरे होने पर प्रतिक्रिया देते हुए श्री नेताम ने कहा कि प्रधानमंत्री का हल्ला-गुल्ला सिर्फ विदेशों में है, जबकि यहां वे फेल हो चुके हैं वहीं उन्होंने रक्षा मंत्री द्वारा नक्सलियों के खिलाफ सेना का इस्तेमाल नहीं किए जाने की घोषणा का स्वागत किया ।रायपुर(निप्र) केन्द्र सरकार द्वारा बनाए गए भूमि अधिग्रहण बिल में कई प्रकार की त्रुटियां हैं इसे बनाने से पहले आम लोगों की राय तक नहीं ली गई है इससे अच्छा तो २०१३ में यूपीए सरकार द्वारा लाया भूमि अधिग्रहण बिल था नेशनल पीपुल्स पार्टी के नेता अरविंद नेताम ने गुヒवार को पत्रकारवार्ता में केंद्र और राज्य सरकार पर निशाना साधा ।उन्होंने कहा कि एनडीए के इस बिल को लेकर देश में विवाद की स्थिति है अगर ट्राइबल एरिया के लिए यह कानून बनेगा तो पेसा कानून का क्या होगा? श्री नेताम ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बस्तर यात्रा पर भी निशाना साधा उन्होंने कहा – लगा था श्री मोदी नक्सल समस्या पर सकारात्मक बयान देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ नक्सल मामले को लेकर एक तरफ गृहमंत्री राजनाथ सिंह आक्रामक हैं, तो दूसरी ओर श्री मोदी डिफेंसिव नजर आ रहे थे श्री मोदी द्वारा २६ हजार करोड़ रुपए के मेगा प्रोजेक्ट की घोषणा पर श्री नेताम ने कहा कि इसका कोई ब्लू प्रिंट नहीं है इसके लिए जमीन कहां है, पानी कहां से लाया जाएगा, इसकी कोई योजना ही नहीं बनी है यही नहीं इस प्रोजेक्ट के बारे में स्थानीय लोगों को पता ही नहीं है ३० किलोमीटर के दायरे पर एनएमडीसी और सेल बन रहा है इस तरह तो बस्तर का ट्राइबल कल्चर बर्बाद हो जाएगा ।सरकार में गो़ंड समाज की उपेक्षाः श्री नेताम ने कहा कि १९५२ से लेकर आज तक राज्य में गो़ंड समाज के लोगों को प्रतिनिधित्व नहीं दिया गया है चाहे वह अविभाजित मध्यप्रदेश हो या वर्तमान में छत्तीसगढ़ की रमन सरकार अभी तक किसी को संसदीय सचिव नहीं बनाया गया है विक्रम उसेंडी मंत्री पद के दावेदार थे, लेकिन उन्हें भी लोकसभा भेज दिया गया है ।ट्राइबल एरिया का शिक्षा विभाग बदतर हो जाएगाः राज्य सरकार ने संविधान में ट्राइबल इलाकों के लिए बने आदिवासी शिक्षा विभाग को स्कूल शिक्षा विभाग के साथ मर्ज कर दिया है मर्ज करने से पहले राज्य सरकार ने भारत सरकार से अनुमति ली है मर्ज करने के कारण अब ट्राइबल एरिया का शिक्षा विभाग बदतर हो जाएगा, क्योंकि सौतेला व्यवहार होगा प्रशासनिक व्यवस्था में फर्क पड़ेगा साथ ही बजट भी कम हो जाएगा प्रदेश के लोगों को ही मिले मौकाः श्री नेताम ने आउटसोर्सिंग का विरोध करते हुए कहा कि प्रदेश में लाखों लोग बेरोजगार हैं, अब बाहर से भी लोग आ जाएंगे तो उन्हें मौका कम मिलेगा साथ ही हेराफेरी की आशंका भी बढ़ जाएगी ,पर्रिकर की तारीफः एनडीए सरकार के एक साल पूरे होने पर प्रतिक्रिया देते हुए श्री नेताम ने कहा कि प्रधानमंत्री का हल्ला-गुल्ला सिर्फ विदेशों में है, जबकि यहां वे फेल हो चुके हैं वहीं उन्होंने रक्षा मंत्री द्वारा नक्सलियों के खिलाफ सेना का इस्तेमाल नहीं किए जाने की घोषणा का स्वागत किया

cgbasketwp

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account