प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भक्त कवि नीरज नहीं रहे : उत्तम कुमार ,संपादक ,दक्षिण कोसल

     

19.07.2018

  मोदी अच्छी सोच रखते हैं और अच्छा काम कर          रहे हैं : नीरज 

जी, ठीक पढ़ा आपने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भक्त कवि नीरज नहीं रहे | इन लाइनों के लिखे जाने तक प्रधानमंत्री का ट्वीट नहीं पढ़ पाया हूं | सांप्रदायिकता व असहिष्णुता के मुद्दे पर पदक लौटाने वाले बुद्धिजीवियों को पद्मभूषण डॉ. गोपालदास नीरज ने आड़े हाथ लिया था | उन्होंने कहा था कि पदक के साथ मिली धनराशि तो इन लोगों ने अपने पास रख ली और कागज के टुकड़ों को लौटा रहे हैं। ये सभी एक खास राजनीतिक विचारधारा के लोग हैं, जो मोदी विरोधियों की साजिश का हिस्सा हैं। यदि उन्हें विरोध करना था तो अपनी कलम से करते। उन्होंने कहा था कि जब से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं, विरोधी दल उन्हें किसी न किसी बहाने घेरने में लगे हैं। मोदी अच्छी सोच रखते हैं और अच्छा काम कर रहे हैं। विरोधी उनकी राह में कांटे बिछा रहे हैं। गोपालदास नीरज ने सांप्रदायिक दंगों के पीछे साफ तौर पर विरोधी दलों का हाथ होने का आरोप लगाया था | उन्होंने कहा था कि उन्हीं के इशारे पर असामाजिक तत्वों ने शहर की शांति को बिगाड़ने की नाकाम कोशिश की है। नेताओं को अमन-चैन कायम करने का प्रयास करना चाहिए।

***

Leave a Reply