बिलासपुर : बंगलादेश आयुक्त के परमिट के बावजूद अभी तक युवती नहीं पहुचाई स्वदेश .: 8-9 महीने से है बिलासपुर में. युवती को तुरंत भेजें बंगलादेश .: पीयूसीएल छत्तीसगढ़

बिलासपुर /17.07.2018

पिछले 9 महीने से शाहिदा *  कई तरह की प्रताड़ना को झेलती हुई बिलासपुर के सेंटर  उज्ज्वला मेंं रोकी गई हैं ,सामाजिक संगठनों के भारी प्रयासों से बंगला देश उच्च आयोग से 22 मई 2018 को तीन महीने का परमिट जारी किया था जिससे कि शाहिदा अपने देश वापस जा सके क्यों कि उनके पास कोई कगजात बचे नहीं थे.

अब जबकि लगभग दो महीने पूरे हो गये हैं अवधि खतम होने में समय बहुत कम शेष बचा है ,और युवती से जब अधिवक्ता प्रियंका शुक्ला मिली थी तब शाहिदा  ने जल्द से जल्द अपने देश वापस जाने की इच्छा जताई थी .

परियोजना अधिकारी बालविकास विभाग से आज पीयूसीएल छतीसगढ की तरफ से अधिवक्ता प्रियंका शुक्ला ने मिल कर मांग की है कि यह उस युवती के साथ मानव अधिकार का हनन है ,यह जानबूझकर विलंब करने की कौशिश हैं ,उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द शाहिदा को बंगलादेश वापस भेजा जाये ंऔर हमें उनसे मिलने की अनुमति दी जाये .

 

* बदला हुआ नाम 

***

Be the first to comment

Leave a Reply