कांकेर : चाहचाड़ में बजरंग इस्पात की माइंस से चारागाह की जमीन बंजर हो रही हैं : माइंस प्रबंधन को उसी क्षेत्र में चारागाह उपलब्ध कराये . : देवलाल नरेटी ,आप

 13, 7,2018  : भानुप्रतापपुर.

आम आदमी पार्टी के लोकसभा अध्यक्ष देवलाल नरेटी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि हाहालद्दी- चाहचाड़ में बजरंग इस्पात की माइंस का कार्य चल रहा है जिससे चारागाह की जमीन भी बंजर हो जाती है। ऐसे में माइंस प्रबंधन को उसी क्षेत्र में चारागाह उपलब्ध करानी होती है।

परन्तु उल्टे माइंस प्रभावित क्षेत्र को छोड़ कर 10 से 12 किलोमीटर दूर कर्रामाड़ के गोड़ पारा में चरागाह के लिए जमीन आबंटित करने को लेकर नरेटी ने शासन – प्रशासन की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह उठाते हुए कहा ।
की क्या माइंस प्रभावित क्षेत्र चाहचाड़, मेड़ो, हाहालद्दी,पड़ंगाल ,भुसकी से लोग मवेशियों को चराने 10से 12 किलोमीटर दूर चराने ले जाएंगे ? । माइंस प्रभावित क्षेत्र के लोगों को अभी तक पूरी तरह से रोजगार नही दे पाए । और अब मवेशियों के हक को भी मारा जा रहा है जो गलत है।

नरेटी ने कर्रामाड़ में चारागाह के लिए जमीन आरक्षित करने को एक बड़ी षड्यंत्र बताते हुए कहा कि माइंस प्रबंधन प्रशासन और क्षेत्र में सक्रिय कुछ दलालों के साथ मिलकर सड़क से लगे गांव में लगभ 5 एकड़ जमीन को चारागाह के नाम से अभी आरक्षित किया जा रहा है जिसमें कुछ दिन बाद उसी जगह पर मद परिवर्तन कर गोयल ग्रुप कालोनिया बनाएगी ये सीधा सीधा जमीन अधिग्रहण करने का सुनियोजित तरीके से षड्यंत्र चल रहा है ।
जिसका आम आदमी पार्टी पुरजोर विरोध करती है और यह मांग करती है कि चारागाह माइंस प्रभावित क्षेत्र में हो।
यदि ऐसा नहीं हुवा तो इसका विरोध करेगी .

**

Leave a Reply