कॉर्पोरेट लूट हेतु छत्तीसगढ़ में अघोषित आपातकाल, लूट और दमन के खिलाफ जनसंगठनों द्वारा संयुक्त आन्दोलन का ऐलान .

25.06.2018

रायपुर 

छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन सहित अन्य जन आन्दोलनों की संयुक्त बैठक आज दिनांक 25 जून को शंकर नगर रायपुर में आयोजित की गई l बैठक में प्रदेश में आन्दोलनों एवं लोकतान्त्रिक अधिकारों पर हो रहे हमलों व दमन पर चिंता व्यक्त की गई l उपस्थित साथियों ने कहा कि भाजपा सरकार ने प्रदेश की जनता से चुनाव पूर्व कई वादे अपने संकल्प पत्र में किये थे, जिनको आज लगभग भुला दिया गया हैं l इन वादों को याद दिलाने और अपने जनतांत्रिक अधिकारों के लिए संघर्ष कर रहे किसान, मजदूर, आदिवासी, अल्पसंख्यक, दलित, महिला तथा शिक्षाकर्मी, नर्सो सहित पुलिस परिजनों के आन्दोलन को बर्बर दमन से कुचला जा रहा हैं l एक तरीके से प्रदेश में अघोषित आपातकाल लगाकर नागरिक अधिकारों को निलंबित करने की कोशिश हो रही हैं जिसका छत्तीसगढ़ बचाओ आन्दोलन सहित उपस्थित समस्त जन संगठनो और राजैनेतिक दलों के प्रतिनिधियों ने कड़ा विरोध जताते हुए इसके खिलाफ आन्दोलन की घोषणा की l

ज्ञात हो कि पिछले दिनों किसानों ने न्यूनतम समर्थन मूल्य में धान की खरीदी, बोनस, कर्ज मुक्ति आदि मांगो पर रायपुर मार्च कर मुख्यमंत्री को ज्ञापन सोपने की कोशिश की तो राज्य सरकार द्वारा किसान आन्दोलन को कुचलने 8 जिलों में धारा 144 लगाकर किसान नेताओं की गैरकानूनी गिरफ्तारिया की गई l यहाँ तक कि किसानो को चने का समर्थन मूल्य न देकर ठेकदारों को मुनाफा पहुचाया गया जिसके विरोध में आन्दोलन कर रहे किसानो के पंडाल के सामने विकास यात्रा के दोरान डी जे बजा कर किसानो का मजाक उड़ाया गया l पूरे आदिवासी क्षेत्रों में खनन परियोजनाओ के लिए भूमि अधिग्रहण सहित तमाम जन पक्षीय कानूनों को दरकिनार किया जा रहा हैं यहाँ तक कि अबुझमाड की अकूत संपदा को कार्पोरेट हाथों में देने के लिए गैर संवैधानिक निर्णय लिया गया l सम्पूर्ण बस्तर में भारी सेन्यीकरण कर निर्दोष आदिवासियों का दमन किया जा रहा हैं l संवैधानिक भावना अनुरूप आदिवासी इलाकों में हो रही पत्थलगढ़ी को समाप्त करने के लिए न सिर्फ व्यापक दमनात्मक कार्यवाही की गई बल्कि पत्थलगढ़ी को तोड़ने वालो की जगह आदिवासी नेताओ पर ही जुर्म दर्ज कर जेल में डाल दिया गया l

वर्ष 2014 में भाजपा के संकल्प पत्र में रमण सरकार ने विभिन्न शासकीय विभागों में कार्यरत कंटिनजेंसी, स्वास्थ्य कर्मी, शिक्षा कर्मी, दैनिक वेतन भोगी आदि कर्मचारी को समान काम समान वेतन, नियमितीकरण और संविलियन की घोषणा की थी जिसे याद दिलाते हुए ये समस्त कर्मचारी आन्दोलनरत हैं, परन्तु राज्य सरकार ने इनके आन्दोलन पर संवेदनशीलता के साथ विचार करने की बजाये आन्दोलन को खत्म करने व्यापक पुलिसिया कार्यवाही की l प्रधानमत्री को ज्ञापन देने जा रहे आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओ को गंभीर अपराधिक धाराओं में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया l महासमुंद में छेड़खानी की शिकायत दर्ज करवाने गई महिला खिलाडी सहित स्थानीय विधायकों को पर बर्बर लाठी चार्ज किया गया l

उक्त तमाम बातें स्पष्ट रूप से इंगित करती है कि छत्तीसगढ़ सरकार का विश्वास लोकतान्त्रिक समावेशी परंपरा से उठ गया है और सरकार चंद कॉर्पोरेट उद्योगपतियों के लूट के लिए छत्तीसगढ़ के नैसर्गिक संसाधनों को सौपना चाहती है और इस प्रक्रिया में वह तमाम जनतंत्रिक व संवैधानिक अधिकारों को कुचलना चाहती हैं l अतः संविधान, संघीय ढांचा और लोकतंत्र पर हो रहे हमले के विरोध में आगामी 16 जुलाई को रायपुर में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन का आयोजन किया जाएगा l

सितम्बर माह में आदिवासी क्षेत्रों में संविधान चेतना यात्रा निकाली जाएगी जिसमे सर्व आदिवासी समाज सहित तमाम लोकतान्त्रिक जनसंगठन शामिल होंगे l स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने, किसानों के मूलभूत समस्याओं के निदान के लिए राज्य व्यापी आन्दोलन विकसित करने के उद्देश्य से 25 अगस्त से किसान अधिकार यात्रा निकाली जाएगी l इसके साथ ही पिछले चार वर्षो के सरकारी वादों और ज़मीनी काम का आंकलन कर एक आरोप पत्र भी जारी होगा l

आज की बैठक में सर्व आदिवासी समाज से अरविन्द नेताम, बी पी एस नेताम, अखिल भारतीय आदिवासी महासभा से सी आर बक्शी, किसान नेता आनद मिश्रा, भारत जन आन्दोलन से विजय भाई, जिला किसान संघ राजनांदगाव् से सुदेश टीकम, सी पी एम् से धर्मराज महापात्र, लिबलेशन से विजेंद्र तिवारी, किसान सभा छत्तीसगढ़ से नंदकुमार कश्यप, जन जातीय अधिकार मंच कांकेर से केशव शोरी, सीबीए जशपुर से जुनुस तिर्की, पी यू सी एल से डा. लाखन सिंह, जगलेग से ईशा खंडेलवाल, माटी संगठन कांकेर से शालिनी गेरा एवं सारा, पेंड्रावन जलाशय बचाओ किसान संघर्ष समिति से घनश्याम वर्मा, एस आर नेताम, लक्ष्मी नारायण पटेल सहित विभिन्न जन संगठनों के लोग शामिल हुए .

**

CG Basket

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

BBC हिंदी ग्राउंड रिपोर्ट : खूंटी गैंगरेप में अब तक का सच क्या है

Tue Jun 26 , 2018
Share on Facebook Tweet it Share on Google Pin it Share it Email   Sunday, 24 Jun,  झारखंड में मानव […]