स्थनीय माइन्स ऑफिस दल्ली राझहरा का घेराव : जनमुक्ति मोर्चा

06/06/2018

जन मुक्ति मोर्चा छत्तीसगढ़ के ब्लाक इकाई धोबेेदण्ड के बैनर तले कोण्डेकसा के ग्रामीणों ने 5 सूत्रीय मांग को लेकर स्थनीय माइन्स ऑफिस दल्ली राझहरा का घेराव किया जिसमें प्रमुख रूप से यह मांग है…

(1) ठेकेदार द्वारा अकारण व ग्राम समाज के एकता-भाईचारे की संस्कृति को नष्ट करने की नियत से ग्राम कोण्डेकसा के निकाले गये ग्रामीण मजदूरों को तत्काल काम पर रख जाये।

(2) ठेका कार्य में पंचायत स्तर पर ठेका मजदूरों की नियुक्ति मे पूर्व की भांति शासन व् बी एस पी प्रबन्धन के मंशा अनुरूप संवैधानिक पद पर बैठे ग्राम पंचायत धोबेदण्ड की वर्तमान सरपंच व् मुखिया द्वारा चयनित व् अनुशंसा किये गये बेरोजगारों को ही ठेका कार्य पर रखा जाये, जिससे पंचायत स्तर पर किसी तरह की विवाद की स्थति उतपन्न न हो।

(3) ठेकेदार द्वारा अकारण ग्राम कोण्डेकसा के चार मजदूरों को कार्य से हटाना संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत रोजगार का अधिकार का उल्लन्धन है, संविधान की अवमानना करने व् मानसिक-आर्थिक रूप से प्रताड़ित करने के लिए अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम (संशोधित) 2006 के तहत ठेकेदार पर क़ानूनी कार्यवाही हेतु तत्काल पहल करे।

(4) अपना व्यक्तिगत आर्थिक हिट साधने के लिये ग्राम पंचायत के आपसी भाईचारे, सद्भावना एकता की आदिम संस्कृति को नष्ट करने का षडयंत्र रचने वाले ठेकेदार का ठेका निरस्त करें (कोण्डेकसा के चार मजदूरों को कार्य से अकारण निकलना इसी षडयंत्र का हिस्सा है)।

(5) पांचवी अनुसूची के तहत अनुसूचित क्षेत्र के महिला सरपंच को प्रताड़ित व् जान से मारने की धमकी देने वालों को अविलम्ब गिरफ्तार किया जाये, जिसका अपराध दर्ज राझहरा थाना में किया गया है।

✊🇧🇾🇧🇾✊

Leave a Reply

You may have missed