छतीसगढ : पत्थल गढी के समर्थन में कई जिलों में प्रदर्शन और गिरफ्तारीयां : हर गांव में गाडेंगे संविधान के प्रावधानों को लिख कर पत्थर पर . पत्थल गढी तोड़ने वाले लोगों को गिरफ्तार करो और निर्दोषों को रिहा करो कि मांग .

16.05.2018

बिलासपुर . छतीसगढ के विभिन्न जिलो मे
पत्थल गढी के समर्थन में 15 मई को सर्व आदवासी समाज और अन्य संगठनो ने रैली ,धरना और जेल भरो आंदोलन किया , उनकी मांग हैं कि जशपुर के दो तीन गांव में भाजपा कार्यकर्ताओं ने रैली निकाल कर हमारी परंपरागत पत्थल गढी को तोड दिया और वहाँ पर उपस्थित आदिवासीयों के साथ मारपीट किया ,उस भीड मे केन्द्रिय मंत्री ,राज्य सभा सदस्य तथा भाजपा के तीन विधायक भी थे . आदिवासियों के विरोध प्रदर्शन के बाद अधिकारीयों ने भरोसा दिलाया था कि हम दोषियों को गिरफ्तार करेंगे और पत्थल गढी को दुबारा गाढ देंगे ,लेकिन पुलिस ने अगले.दिन पीडितों को ही गिरफ्तार कर लिया और आज तक जमानत भी नही हुई हैं.

बिलासपुर ,राजनांदगांव ,धमतरी ,रायगढ बालोद ,जांजगीर और कोरबा और कवर्धा मे विरोध और कई जिलों में गिरफ्तारी की खबर है ,गिरफ्तार किये गये कुल लोगोँ की संख्या 665 है .जिन्हें बाद मे छोड दिया गया.

बालौद के गोंडवाना भवन की बैठक मे सर्व आदवासी समाज के अध्य्क्ष गजानंद प्रभाकर ने बताया कि 17 मई गुरुवार को आदिवासी समाज के नेतृत्व मे जशपुर जाकर गिरफ्तारी देंगे .राजनांदगांव में सर्व आदवासी समाज के अध्यक्ष देवनारायण नेताम और किसान संघ के अध्यक्ष सुदेश टीकम ने एलान कर दिया कि हम हर गांव में पत्थल गढी गाड़ने का काम करेंगे हमे कानून की जानकारी है यह बिल्कुल संवैधानिक है ,हमे इससें कोई नही रोक सकता .
्****

Leave a Reply

You may have missed