जिला कोरबा छ.ग. के SECL गेवरा प्रबंधन के अधिकारियो के ऊपर हो दंडात्मक कार्यावाही. – ऊर्जाधानी भुविस्थापित संगठन. .

12.05.2018 कोरबा ,गेवरा   

ग्राम आमगांव निवासी भुविस्थापित बहोरन सिंह कंवर पिता रामनाथ कंवर,आमगांव के नजदीक चल रहे गेवरा खदान मे नीचे गिर या प्रबंधन के प्रताडना से तंग आकर किया है आत्महत्या इसकी जांच होनी चाहिए । घायल बहोरन सिंह कंवर गंभीर अवस्था मे अस्पताल मे भर्ती है । गेवरा खदान का संचालन गांव से महज 20 मीटर की दुरी मे किया जा रहा है,जबकि नियमानुसार गांव मे निवासरत परिवार से 300 मीटर की दुरी मे खदान का संचालन किया जाना चाहिए । आमगांव के पात्र परिवारो को अन्य जगह पुनर्वास नही दिया गया है और निवासरत पात्र परिवारो को अभी तक नौकरी नही दिया गया है जिसके कारण से परिवार गांव छोडने के लिए तैयार नही है और प्रबंधन बार बार गांव वालो पर मानसिक दबाव बना रही है। इसी गांव मे बहोरन सिंह का परिवार मे अपने 2 बेटा, 1 बेटी व पत्नि सहित निवासरत है । इनकी कुल निजी जमीन लगभग 2.50 एकड का अर्जन SECL गेवरा क्षेत्र द्वारा किया गया है ।लेकिन आज तक नही दिया गया है नौकरी । ये पहली घटना नही है, गेवरा प्रबंधन द्वारा घोर लापरवाही पुर्वक खदान का संचालन किया जा रहा है जिसके कारण से गांव के कई जानवर खदान मे गिर गए हैं। गेवरा प्रबंधन की सीमा पर कोई भी सेफ्टी जोन का निर्माण नही किया गया है ,जबकि SECL गेवरा प्रबंधन को दी गई पर्यावरण स्वीकृति के कंडिका 6 व 7 मे स्पष्ट उल्लेख है कि कंपनी को 06 फीट का फेंसिंग वाल सेफ्टी जोन के रूप मे बनाया जाना है ।

 

आज तक गेवरा प्रबंधन द्वारा सेफ्टी जोन का निर्माण नही किया गया है और नियमविरूद्ध खदान का संचालन किया जा रहा है । इस घोर लापरवाही के कारण बहोरन सिंह कंवर आज खदान मे गिर गया या गेवरा प्रबंधन के दबाव मे खदान मे कूद गया । इस घटना की जांच कर दोषी अधिकारियो के ऊपर दंडात्मक कार्यावाही की मांग भुविस्थापित संगठन द्वारा जिला प्रशासन से की जाएगी एवं गेवरा प्रबंधन की शिकायत DGMS से भी की जाएगी। **

Leave a Reply

You may have missed