सोमनी / बिसाहिन की जमीन चली गई पावर प्लांट में , न मिला मुआवज़ा और न बेटे को नोकरी ,यूनियन ने कहा हम लड़ेंगे हक़ की लड़ाई .

18.04.2018

भिलाई सोमनी 

भिलाई के मज़दूर नेता कलादास डेहरिया ने बताया किदुर्ग ग्राम सोमनी, के निवासी बिसाहिन ने जन आधारित पावर प्लांट यूनियन के कार्यालय में आकर बताई की एन एस पी सी एल के पावर प्लांट का निर्माण हुआ तो मोरिद, सोमनी, पुरेना के किसानों का जमीन अधिग्रहण हुआ है जिसमे बिसाहिन बाई का60 डिसमिल खेत जहाँ धान का खेती होता था अब वह खेत पावर प्लांट के राखड़ से बर्बाद हो गया यहाँ तक कि खेत के अंदर से नाला डायवर्ड कर दिया है, बिसाहिन का पति नही है उनका एक बेटा है खेत में कुछ अनाज हो जाने से खाने का बंदोबस्त हो जाता था लेकिन एन एस पी सी एल के कारण खेत रह कर भी कुछ नही कर पा रहे है, ऋण पुस्तिका नक्सा खसरा सब बिसाहिन के पास है, बिसाहिन चाहती है खेत का मुआवजा मिले मेरा बेटा रवि को एन एस पी सी एल में काम मीले कम्पनी बनते तक जमीन मालिको को पक्का सर्विस का झांसा दिया जाता है जैसे ही कम्पनी में उत्पादन शुरू हुआ पक्का सर्विस तो दूर ठेका मजदूरी भी नही मिलता यह बात पूरे देश के संदर्भ में है ये है कार्पोरेट परस्त सरकारों की करतूत.

 

मजदूर नेता कलादास ने कहा कि यूनियन बिसाहिन के मामले को गम्भीरता से लिया है इसके लिए जो भी कानूनी प्रक्रिया में जाना होगा मदद करेंगे, और पीड़ित किसानों को संगठित करेंगे

**

Leave a Reply

You may have missed