बच्चे ऐसे ही तो सीखते हैं सभ्यता के पाठ

बच्चे ऐसे ही तो सीखते हैं सभ्यता के पाठ





इस बच्ची का नाम हडमें है
हडमें की उम्र आठ साल है
हडमें के गाँव का नाम नहाडी है

करीब दो सप्ताह पहले हडमें दोपहर में घर में अपने पिता के साथ बैठ कर खाना खा रही थी
तभी पुलिस आयी
हडमें के पिता शोर सुन कर उठ कर देखने के लिए घर से बाहर निकले
पुलिस ने हडमें के पिता को गोली मार दी
हडमें के पिता मर गए
पुलिस ने अपनी बहादुरी दिखाने के लिए मीडिया को बुलाया
पुलिस ने कहा कि हडमें का पिता नक्सलवादी था
जिसे पुलिस ने भयानक मुठभेड़ के बाद मारा है
लेकिन हडमें ने मीडिया के सामने कहा मेरे पिता को पुलिस ने घर के सामने मारा है
किसी ने हडमें की बात नहीं सुनी
हडमें अब दिल्ली आयी है
हडमें इस देश के सभ्य नागरिकों से अपने लिए इन्साफ मांगने आयी है
देखते हैं यह देश कितना सभ्य है
बच्चे ऐसे ही तो सीखते हैं सभ्यता के पाठ
किताबों में भारत की महान सभ्यता की कहानियों से भला कौन भारत के बारे में जान पाता है ?
भारत के आदिवासी भारत की महान सभ्यता अहिंसा और दयालुता के बारे में ऐसे ही तो जान पायेंगे
[ hianshu kumar]

Leave a Reply

You may have missed