ग्राम मुरेठी में मृतक महिला के परिजनों से मुलाकात एवं जनजागरण अभियान :  कोई नारी टोनही नहीं : डॉ दिनेश मिश्र  

 

12.04.2018

रायपुर

अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के अध्यक्ष डॉ. दिनेश मिश्र ने बताया कि पिछले कुछ दिनों पहले ग्राम मुरेठी में जादू-टोने के संदेह में एक महिला की हत्या की घटना की जानकारी मिलने पर समिति के दल ने मंदिर हसौद, बहनाकाडी , मुरेठी तथा चंदखुरी का दौरा किया। मृतक महिला एवं उसके परिजनों से मिले और अंधविश्वास के खिलाफ जनजागरण अभियान चलाया। जादू-टोने के अंधविश्वास के कारण प्रदेश में पिछले कुछ दिनों में पाँच व्यक्तियों की हत्या हो गई तथा टोनही के संदेह में कुछ महिलाएँ प्रताडि़त हुई है। 

डॉ मिश्र ने बताया कि ग्राम मुरेठी में अमरीका पटेल नामक महिला की जादू-टोने के संदेह में हत्या होने की जानकारी मिलने पर समिति के दल जिसमें डॉ. मिश्र, डॉ. शैलेष जाधव, डॉ. ज्ञानचंद्र विश्वकर्मा शामिल थे, ने ग्राम मुरेठी सहित मंदिर हसौद, बहनाकाड़ी तथा चंद्रखुरी का दौरा किया। मुरेठी के सरपंच बृजलाल यादव और कोटवार रोहित के साथ उक्त महिला के घर गये तथा उसके परिजनों से मिलकर संवेदना व्यक्त की तथा ग्रामीणों से चर्चा की। 

डॉ. मिश्र ने कहा कि जादू टोना, टोनही जैसी बातों का कोई अस्तित्व नहीं है, इस तथाकथित जादू-टोने से ना ही कोई व्यक्ति किसी का काम बना सकता है ना ही किसी का काम बिगाड़ सकता है। इस जादू-टोने के अंधविश्वास के साथ हिंसा और प्रताडऩा की बहुत सारी घटनाएँ ग्रामीण अँचल से सामने आती हैं। मनुष्यों और पशुओं की बीमारियों के अलग-अलग कारण होते हैं। संक्रमण, कुपोषण और चोटों से लोग बीमार और अस्वस्थ होते हैं जिनका कारणानुसार उपचार आधुनिक चिकित्सा विज्ञान में संभव है और किसी भी महिला पर जादू-टोने के ऐसे आरोप लगाना और प्रताडि़त करना अनुचित और गैरकानूनी अमानवीय और मानव अधिकार के खिलाफ है, उसी प्रकार दैनिक जीवन के विभिन्न कार्यों में भी जादू-टोने करके काम बिगाडऩे की बात भी अतार्किंक और अंधविश्वास है। डॉ. मिश्र ने कहा कि ग्रामीणों को इस अंधविश्वास में नहीं पडऩा चाहिए और न ही कानून अपने हाथ में लेकर अपराध में पडऩा चाहिए। समिति को मृतक महिला की माँ अमोला पटेल और ग्रामीण ने बताया इस संबंध में हुई कार्यवाही से वे संतुष्ट नहीं हैं तथा इस संबंध में निष्पक्ष कार्यवाही कर दोषी व्यक्ति को सजा मिलना आवश्यक है। प्रशासन को इस पर तुरंत निष्पक्ष कार्यवाही कर आरोपियों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए। समिति के सदस्यों ने ग्रामों का दौरा कर ग्रामीणों से चर्चा की, पाम्पलेट वितरित किए तथा जनजागरण अभियान संचालित किया।

डॉ. दिनेश मिश्र

अध्यक्ष, अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति

Leave a Reply

You may have missed