हम सब लोग #meriraatmerisadak के तरह ही इकठ्ठा होंगे.
जिसको भी पोस्टर्स लाने है, खुद से जरूर लाये।
साथ ही सम्भव हो तो, मशाले भी लाये.

कम से कम हम, एक घंटे तक प्रोटेस्ट करेंगे, फिर मशाले जलाएंगे, और उसको जुलूस का रूप देंगे।

सत्ता के खिलाफ , बलात्कारियों के खिलाफ, बलात्कार के पक्ष में खड़े लोगों के खिलाफ, हम सब मिलकर आवाज़ देंगे.

सबसे गुजारिश है कि अपने परिवार, दोस्त सबको जरूर लाये।
यह महिलाओं की सुरक्षा के साथ साथ उसके अपने अस्तित्व की लड़ाई भी है, इस आंदोलन का मकसद पॉलिटिकल पार्टी या चुनाव नही है।
मामले की गंभीरता को समझते हुए, आइये एक बार फिर से सड़कों पर उतरे….
ज़िंदाबाद

#उन्नाव_से_कश्मीर_तक
कश्मीर से उन्नाव तक.

#

मोबाइल- 8871067410( प्रियंका, छत्तीसगढ़)