सब सुखी है – गुड ईवनिंग बिलासपुर .

सब सुखी है  – गुड ईवनिंग बिलासपुर .

सब सुखी है – गुड ईवनिंग बिलासपुर .

सब सुखी हैं

  • 22.03.2018

बिलासपुर। सब बहुत सुखी हैं अपने शहर में। आनन्द पूर्वक जीवन व्यतीत कर रहे हैं। मज़दूर कर रहे हैं मज़दूरी। शाम को रोजी मिल जाती है। लिंक रोड़ के स्वदेशी में चले जाते हैं। सरकारी पव्वा, अद्धा, या पूरी बोतल। मदमस्त होकर घर जाते हैं। बीवी को पीट पाटकर सो जाते हैं। बहुत सुखी हैं। व्यापारी कभी सुखी होने का दिखावा नहीं करते पर उन्हें गुस्सा भी कभी नहीं आता। या आये भी तो अपने घर में ही या चार यार दोस्तों के सामने निकाल देते हैं बस। चुपके से मंत्री को माला पहना आते हैं और जो भी आये थोड़ा बहुत चन्दा दे देते हैं। 

             कहते हैं अपनी अरपा भीतर बहती है। इसी पानी का असर है शायद की यहां सब भीतर ही रखते हैं लोग,और गुस्सा तो बिलकुल करते ही नहीं। सीवरेज से तकलीफ़ है तो क्या हुआ? 10 -20 लोग मर गए । लाखों की आबादी वाले शहर में ये कोई खास बात नहीं। सम्हलकर चलते तो ना गिरते , ना मरते। कोई भाजपाई या कांग्रेसी गिरा क्या किसी गड्ढे में ? ये सब संभलकर चलते हैं। 

        बहुत सुखी हैं अपने शहर के लोग। देख नहीं रहे हो लोकप्रिय मंत्री अमर अग्रवाल की जनयात्रा चल रही है। गली गली में आरती उतारी जा रही है, माला पहनाकर तिलक लगा रहे हैं लोग। बूढ़े,बच्चे, महिलाएं, युवा सब के सब उमड़ पड़े हैं स्वागत के लिए। लोकप्रियता हो तो ऐसी। ये चुनाव हर बरस क्यों नही होते? जनता को अपने मंत्री का स्वागत करने पांच बरस इंतज़ार नही करना पड़ता। इतने दिनों से घूम रहे हैं मंत्री गलियों, मोहल्लों में। कहीं कोई शिकायत नहीं, कोई गुस्सा नहीं। सब सुखी हैं। विकास के चरम सुख के आनंद में डूबे हैं। इसलिए कर रहे हैं अपने विकास पुरुष का स्वागत।

                अपना शहर संस्कवानों का भी शहर है। और अरपा का पानी पिये कांग्रेसियों में तो संस्कार कूट – कूट कर भरा है। गरिमामय राजनीति करते हैं। अपने काम-धंधे करते हैं। विरोध में कभी कभी “क्यों” पूछ देते हैं। अब अपने यहां ऐसा तो है नहीं कि मोहल्लों में जाकर मंत्री से सवाल करें। वो तो वाट्सअप पर पूछ लेंगे। बेकार में मंत्री की जन सम्पर्क यात्रा को डिस्टर्ब थोड़े ही करेंगे। करना भी नहीं चाहिए, आखिर उन्हें भी तो मोहल्लों में जाना है। जाहिर है सुखी है वे भी। यानी जनता,नेता ,व्यापारी,मज़दूर सब सुखी है अपने शहर में। अरपा मैया के किरपा से सब तरफ परम शांति है। 
■ आनंद कुमार
                   

CG Basket

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account