बिलासपुर : नगरनिगम में सफाई कर्मियों का आंदोलन , सरकार चाहे तो सभी मांग एक दिन में मान सकती है : कमिश्नर ने मांगा समय ; आप और कांग्रेस ने किया समर्थन .


17.03.2018
**

सफाई कर्मचारी संघ, बिलासपुर की 17 सूत्रीय मांगो को लेकर, कल का पूरा दिन आंदोलन व प्रदर्शन के नाम रहा। सफाई कर्मचारी संघ का ये आंदोलन कल या परसो से नही, बल्कि लगातार 2005 से चलता आया है, पर हर बार सत्ता में बैठे लोगों के द्वारा इन्हें मांगो पर समझौता करते हुए, और मांगो को मान लिया है, कहते हुए लगातार टाला जाता रहा है।
मांगो की बात करे तो बहुत बुनियादी मांगे है, जिनको राज्य सरकार और केंद्र सरकार चाहे तो एक दिन में लागू कर सकती है.

1:- ठेका प्रथा बन्द हो
2:- काम के दौरान अलग से वर्दी मिले
3:- आवास की व्यवस्था की जावे
4:- सालो से रुकी हुई पेंसन दी जाए
5:- एकाउंट में वेतन आये
6:- बोनस के तौर पर मिलने वाला पैसा, त्योहार के समय से पहले मिल जाये ताकि त्योहार ठीक से मनाया जा सके।
7:- वेतन महीने के 1 तारीख को मिल जाये
8:- सफाई कर्मचारियों को श्रम न्यायालय द्वारा दिये गए निर्णय के अनुसार लगभग लम्बित 1 करोड़ रुपया मजदूरी बकाया है, उसे वापस दिलाया जाए
9:-डाईंग कैडर निरस्त किया जाए
आदि मांगे रही।

जिस पर हर मांग पर कुछ अलग अलग समय सीमा की मांग आयुक्त ने की है। दिए गए समय के हिसाब से मांग पूरी करने की बात कही।
आयुक्त महोदय ने ठेका प्रथा के विषय मे साफ कहा कि इसको खत्म नही किया जा सकता, क्योंकि यह हमारे हाथ मे नही है। इसको राज्य शासन से मांग की जा सकती है। जिसको हमारे द्वारा आप ही के साथ सामान्य सभा मे प्रस्तावित करके, हम राज्य शासन से मांग कर सकते है।

आवास के दिये जाने के सम्बंध में आयुक्त महोदय द्वारा यह बोला गया है कि आवास को हमारे द्वारा 2 महीने में प्रोजेक्ट दिखाया जा सकेगा, कोशिश यह होगी कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत हम आवास दिलवा देंगे।

नौकरी के दौरान वर्दी की।मांग पर आयुक्त महोदय ने कहा कि हम जल्दी ही दे देंगे, सबकी सहमति से तय हुआ कि सफाई कर्मचारी संघ के ही किन्ही 5 लोगो की एक कमेटी बनाकर उन्हें वर्दी का कपड़ा पसन्द करवा दिया जाएगा और वो खुद कपड़ा पसन्द करेगी।

संघ के लोगो द्वारा यह बोला गया कि हम पर मुकदमा है, और हड़ताल के बाद काम के लिए वापस जाने पर, हमको ठेकेदारों द्वारा प्रताड़ित भी किया जाता है। इसको भी सुनिश्चित किया जाए कि प्रताड़ित नही किया जाएगा। आंदोलन व हड़ताल के दौरान हमारे वेतन की कटौती भी न हो। जिस पर आयुक्त महोदय ने हामी भरते हुए कहा है कि यदि कोई परेशान करेगा तो आप सीधे मेरे पास शिकायत लेकर आ सकते है।आम आदमी पार्टी, बिलासपुर ने दिया समर्थन।

आज आंदोलनकारियों का एक प्रतिनिधि मंडल निगम के कमिश्नर से मिला कमिश्नर ने हर मांग पर कुछ कुछ समय मांगा है। जो कि निम्नलिखित है।
रुकी हुई पेंशन को लेकर 5 दिन का समय मांगा था,
सातवाँ वेतन 1 अप्रैल से लागू हो जाएगा।
वर्दी के लिए कर्मचारी संघ के ही लोगो मे से 5 लोगो की कमेटी बनाई जाएगी और वो लोग वर्दी का कपड़ा पसन्द करके दे दिया जाएगा।
ठेका प्रथा को लेकर आयुक्त महोदय सहित नगर निगम वे लोग आम सभा में प्रस्तावित करेंगे और फिर उसको राज्य शासन से मांग की जावेगी।
डेलिगेशन में आम आदमी पार्टी से प्रियंका. शुक्ला कांग्रेस से राजेश पांडे
कर्मचारी संघ से जोशी जी व करोसिया जी सहित 10 अन्य लोग भी थे।

**

CG Basket

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

अमर के लिए (अ) जीत का रास्ता ...बिलासपुर विधानसभा का राजनैतिक. विशलेषण :, नथमल शर्मा ,संपादक ईवनिंग टाईम्स बिलासपुर.

Sun Mar 18 , 2018
Share on Facebook Tweet it Share on Google Pin it Share it Email 18.03.2018 बिलासपुर। छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ने कुछ […]