? कांकेर : किसान 5 मार्च से रेल लाइन पर बैठे हैं,रावघाट रेल प्रभावित नोकरी और उचित मुआवज़ा की माँग को लेकर आंदोलनरत ,किसानो ने ट्रायल रेल स्टेशन पहुँचने के पहले रोकी.पुुुलिस ने दी  बल प्रयोग की चेतावनी .

 

14.03.2018

कांकेर 

रावघाट रेल परियोजना से प्रभावित आदिवासी और किसान मांग कर रहे है कि सबसे पहले प्रभावितों को नोकरी दी जाए वो चाहें रेल विभाग दे या केन्द्र सरकार और जमीन का वास्तवित मुआवज़ा मिले ,इसके लिए आंदोलन कर रहे किसानों ने कह् दिया है जब तक वे रेल को अपने क्षेत्र में नही चलने देंगे और उन्होंने किया भी ऐसा ही .

दल्ली राजहरा रावघाट रेल परियोजना से प्रभावित कांकेर के किसान 5 मार्च से रेल लाइन पर बैठे हैं। कल 13 मार्च से उनहोंने क्रमिक भूख हड़ताल शुरू कर दी है। ज़मीनो का अधिग्रहण करते समय सभी प्रभावित परिवारों को नौकरियों का आश्वासन दिया गया था, पर अभी बहुत कम लोगों को नौकरियां मिल रही हैं। उसी की मांग पर सब लोग पटरियों पर बैठे हैं।

 


कल भानुप्रतापपुर में किसानों के धरना स्थल पर बहुत पुलिस और शसस्त्र बल के सैनिक थे। आज सरकार ने अल्टीमेटम दिया है कि कल तक नहीं उठे तो उन्हें बलपूर्वक उठाया जायेगा क्योंकि ट्रायल ट्रेन को वहां से आवश्यक रूप से गुज़रना है। वहां गाँवो से बहुत सारी महिलाएं भी उपस्थित थी।

Leave a Reply

You may have missed