महिला मुक्ति मोर्चा ने महिला दिवस पर निकाला जुलूस .: भिलाई

8.03.2018

भिलाई 

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला मुक्ति मोर्चा के बैनर तले भिलाई ओद्योगिक इलाके में गगन भेदी नारों के साथ जुलूस प्रदर्शन किये जामुल के बूढ़ा पंडाल से ठीक11 बजे जुलूस प्रारंभ हुआ महिलाएं यह नारा दे रही थी हमे सुरक्षा नही बराबर के अधिकार चाहिए महिला मजदूरों को समान काम समान वेतन दो, घरेलू हिंसा, सामाजिक हिंसा,राजनीतिक हिंसा बंद करो, आदिवासी,दलित महिलाओं के ऊपर दमन करना बंद करो, जाती और धर्म के नाम पर महिलाओं को बांटना बंद करे, पूरे समाज मे पित्र सत्ता हावी है जिससे महिलाओं को गुलामी के जंजीरों में बांधा हुआ है,सबसे अधिक महिलाये काम करती है बच्चों के लालन पालन से लेकर घर के खाना बनाने से लेकर साफ सफाई का काम करती है,.

सरकार महिला दिवस को नक्सली का नाम देता था आज सरकार खुद महिला दिवस के असली लड़ाई को मोड़कर महिलाओ का त्योहार दिवस बना दिया है, जबकि महिलाओ के दमन के खिलाफ संघर्ष दिवस है, आज महिलाओ को कमांडो बनाकर गुमराह किया जा रहा है, सरकार के शराब खोरी से अधिक प्रताड़ित महिलाऐ है,हर काम मजदूर वर्ग के महिला के कन्धा के ऊपर टिका है मितानिन से लेकर आंगनबाड़ी के महिलाओं को सही वेतन नही मिलता और जब आंदोलन करती है तो पुलिस का डंडा चलता है वही महिलाओ ने लेनिन के मूर्ति गिराने के खिलाफ भाटा पारा में आम्बेडकर के मूर्ति को खंडित के खिलाफ, पेरियार के मूर्ति के खंडित के खिलाफ आवाज बुलंद करते मांग किये की मूर्ति खंडित करने वालों को गिरफ्तार करो ,धार्मिक कट्टरता के खिलाफ करते है चाहे वह कोई भी हो आने वाले दिनों में आंदोलन तेज होगा शहीद स्कूल रायपुर बिरगांव के टीचर बहने जन गीत से सभा को प्रारम्भ किये.

वक्ता के रूप में महिला मुक्ति मोर्चा के मुखिया बहन श्रेया जी,सावित्री जी,अर्चना जी,रोशनी जी,हेमा जी,उर्मिला जी,गोदावरी जी, शिवरानी जी,अमरीका जी संचालन का काम नीरा डेहरीया ने किया,

**

Leave a Reply

You may have missed