इलाहाबाद में दलित छात्र की हत्या औऱ छतीसगढ मे  दलितों,अल्पसंख्यको पर बढ़ते हिंसा के खिलाफ बिलासपुर में जॉइंट एक्शन कमेटी ने  किया प्रदर्शन , राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन .

15.02.2018

बिलासपुर

इलाहाबाद में दलित छात्र की हत्या औऱ छतीसगढ मे  दलितों,अल्पसंख्यको पर बढ़ते हिंसा के खिलाफ बिलासपुर में जॉइंट एक्शन कमेटी ने  नेहरू चौक पर प्रदर्शन किया और कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया ,जिसमें माँग की गई कि  विगत 12 फरवरी को इलाहाबाद में विधि  के दलित  छात्र दिलीप सरोज जब एक रेस्टोरेंट न्यू खाना खाने गये तो मात्र छोटी सी बात पर उनकी खुले आम पीट पीट कर हत्या कर दी गई। जिसका विडिओ देखने भए से दिल दहल जाता है. न्यूज़ चैनल ndtv कि खबर के मुताबिक़ दिलीप सरोज के मुख्या हत्यारे विजय शंकर सिंह कि गिरफ्तारी नहीं हो सकी है. क्युकी वो आरोपी उत्तर प्रदेश के नामी बदमाश और नेता चन्द्र भद्र सिंह उर्फ़ सोनू का रिश्तेदार है.

21 जनवरी 2018 को रायगढ़ में दलित युवक जय चौहान शासन प्रशासन से पीड़ित होकर आत्मदाह कर लिया। पता चला कि उसकी जमीन पटवारी व शासन के लोगो द्वारा गलत ढंग से छीन कर किसी और के नाम कर डी गयी थी जिससे वो लगातार मानसिक तौर पर भी प्रताड़ित हुआ और आत्मदाह कर लिया.

इस कड़ी में मुंगेली के ढोढापुर गाव की एक दलित युवती के साथ सामूहिक बलात्कार कि घटना सामने आई है, तमाम संगठन और लोगो के काफी प्रयासों के बाद  पुलिस के द्वारा  FIR दर्ज किया गया लेकिन जैसा युवती ने बताया वैसी बात नही लिखी गयी और न ही सब आरोपियों के  नाम लिखे गये है, जिसके सम्बन्ध में लगातार युवती सरकारी दफ्तरों के चक्कर लगा रही है. इसके बावजूद उलटा उसके साथ ही दुर्व्यवहार किया जा रहा है.

 

 

 

जबसे केंद्र में NDA सरकार सत्ता में आई है यह स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहा है कि दलितों, अल्पसंख्यको और पिछड़ों पर इस प्रकार की प्रताड़ना बढ़ गई है और सबसे दुखद बात है कि सरकार इन घटनाओं पर मौन है, निष्क्रिय है।

रोहित वेमुला से लेकर गुजरात के ऊना से इलाहाबाद के दिलीप सरोज तक , सभी घटनाओं पर प्रशासन निष्क्रिय है जिसके कारण ऐसी घटनाये बढ़ते जा रही है। ये तमाम घटनाए अत्यंत दुखद है, इससे भी ज्यादा दुखद इन घटनाओं पर सरकार की चुप्पी है. ऐसे नेता और प्रधानमन्त्री जो कि बात बात पर बधाई के लिए तो ट्विटर का इस्तेमाल करते है परन्तु जब बात दलित, आदिवासी, माइनॉरिटी पर हमलो की खबरे आती है तो इन सभी के मुह सिल जाते है और डिजिटल इण्डिया के सभी नेताओं के मानो नेटपैक तक ख़तम हो जाते है.

इस ज्ञापन के माध्यम से हम आप का ध्यान इस ओर आकर्षित करना चाहते है जिससे इस प्रकार की घटनाओं पर त्वरित रोक लगे, क्युकि यदि यही स्थितिया रही तो देश में परिस्थितिया बिगड़ सकती है.

 

१ हम मांग करते है कि दिलीप सरोज के घटना के मुख्य आरोपी सहित  सभी दोषियों व  हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़ा जाए और उन पर कड़ी कानूनी करुवाही हो 

२ हम मांग करते है कि रोहित एक्ट लागू किया जाए 

३ हम मांग करते है कि दिलीप सरोज के परिवार वालो के किसी व्यक्ति को सरकारी नौकरी डी जाए 

४ हम मांग करते है कि मुंगेली के दलित युवती के साथ हुयी घटना की विवेचना निष्पक्ष व न्यायिक जांच हो 

५ हम मांग करते है कि रायगढ़ में हुयी घटना के शिकार जय चौहान के मामले में भी न्यायिक जांच हो

 

 

 

Leave a Reply

You may have missed