हिमांशु कुमार की रिपोर्ट 

**

9.02.2018

पुलिस ने परिवार का अपहरण कर लिया है

जिस आदिवासी हिड़मा को 2 दिन पहले पुलिस ने नक्सली बताकर पेड़ से बांधकर मार डाला था

और मारने से पहले पीट-पीटकर हड्डियां तोड़ दी थी

परिवार ने विरोधस्वरूप लाश लेने से मना कर दिया था

तब से पुलिस घबराई हुई थी

अभी अभी हजारों आदिवासी विरोध प्रदर्शन करने गांवों से बाहर निकल रहे हैं

लेकिन चारों तरफ फोर्स ने आदिवासियों को घेर लिया है

सशस्त्र बल के सिपाही आदिवासियों को किरंदुल तक पहुंचने से रोक रहे हैं

थोड़ी देर पहले पुलिस ने हिड़मा के परिवार का अपहरण किया

और जीप में डालकर दंतेवाड़ा थाने लेकर आए

सोनी सोरी ने थाने में पहुंचकर पूछा कि इस परिवार को यहां कौन लाया है ?

तो पुलिस वाले घबरा गए और कहने लगे हमें नहीं पता

हम नहीं लाए अधिकारी लाए हैं

सोनीसोरी ने पुलिस से पूछा कि कौन से अधिकारी लाए हैं ?

तो पुलिस वाले टालमटोल कर रहे हैं

मृतक आदिवासी का परिवार दृढ़ता से अड़ा हुआ है

हम मामले पर नज़र रखे हुए हैं

**