कॉपर मून पिकनिक : सिविक सेंटर भिलाई. “एक नॉन एकेडमिक रपट ” शरद कोकास

कॉपर मून पिकनिक : सिविक सेंटर भिलाई. “एक नॉन एकेडमिक रपट ” शरद कोकास

31.01.2018

🌘शाम का *5:30* बज रहा है । जीवन बीमा निगम के कार्यालय के सामने भिलाई इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के छात्र टेलिस्कोप लेकर पहुंच चुके हैं । जीवन बीमा निगम के साथियों ने परिसर में 50 कुर्सियां टेबल प्रोजेक्टर माइक आदि की व्यवस्था कर दी है ।

🌘 इसके बाद 5:30 बजे लगभग कॉपर मून पिकनिक के इस आयोजन की शुरुआत होती है LIC के चीफ मैनेजर मंच पर विराजमान है । शरद कोकास भी आ चुके हैं ।कर्मचारी यूनियन के प्रमोद नायर के प्रारंभिक उदबोधन के बाद संयोजक धुरंधर जी विज्ञान सभा द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम के उद्देश्य के विषय में बताते हैं । डाइट के अजय जयसवाल जी का उद्बोधन होता है वे विस्तार से ग्रहण के वैज्ञानिक कारणों पर बात करते हैं ।

🌘उसके बाद चंद्र ग्रहण देखने आए दर्शकों से संवाद शुरू होता है । दर्शकों में बच्चे हैं, महिलाएं हैं, स्कूल के छात्र हैं LIC और बैंक के कर्मचारी हैं और भी तमाम लोग हैं ।

🌘बच्चों को बुलाकर शरद कोकास एक बच्चे को सूर्य बनाते हैं, एक बच्चे को चांद और हरे ड्रेस में पृथ्वी बनी कोपल बीच में खड़ी हो जाती हैं। उनके हाथ में पृथ्वी का ग्लोब है । सूरज बने बच्चे के हाथ में एक बड़ी सी टॉर्च है और कांच का एक छोटा गोला पकड़े एक बच्चा चन्द्रमा बना हैं ।

🌘सूरज के टॉर्च से रोशनी पृथ्वी के ग्लोब पर डाली जाती है और उसकी छाया चाँद के गोले पर पड़ती है ।
सारे लोग समझ जाते हैं चंद्रग्रहण इसी तरह होता है ।

🌘 उसके बाद सवाल जवाब का सिलसिला शुरु होता है । शरद कोकास बताते हैं कि किस तरह से सूर्य चांद पृथ्वी का निर्माण हुआ, किस तरह वे आकाशीय कक्षा में स्थापित हुए । वे ग्रहण के भारतीय माइथोलॉजी के मिथक की कहानी भी बताते हैं जिसमें पुराने समय मे ग्रहण का अर्थ राहु के द्वारा चंद्र और सूर्य को भक्षण किया जाना था । वे सुनाते हैं कि किस तरह अंद्धविश्वास मनुष्य के जीवन मे आये ।

🌗6.30 हो रहा है । छत पर टेलिस्कोप इंस्टाल किया गया है । अब लोगों की भीड़ ऊपर छत पर पहुँचने लगी है । छत पर स्त्री और पुरुषों की अलग अलग लाइन बना दी गई है । एल आई सी के मित्र ,अग्रवाल जी , देवांगन जी व्यवस्था बनाने में लगे हैं । भीड़ लगातार बढ़ती जा रही है । चाँद पर ग्रहण की शुरुआत हो चुकी है ।

🌗भिलाई के तमाम अखबारों के पत्रकार टी वी चैनल के लोग आ चुके हैं , वे लोगों से इंटरव्यू ले रहे हैं , वीडियो बना रहे हैं । भारत भास्कर से रमज़ान भाई अपनी फैमिली के साथ आये हैं ।

🌗अनेक प्रतिष्ठित लोग भी आ रहे हैं , जिनमे इंजीनियरिंग कॉलेज के प्रोफेसर , डॉक्टर्स , आदि भी हैं ।

🌗आठ बजे फिर नीचे प्रांगण में लोग इकठ्ठा हो गए हैं। प्रोजेक्टर पर नासा की विभिन्न प्रयोगशाला से चाँद की स्थिति का लाइव टेलीकास्ट चल रहा है । लोगों के सवाल जवाब चल रहे हैं शरद कोकास और अन्य मित्र लोगों के सवालों के जवाब चल रहे हैं । सवालों में ईश्वर , धर्म , रूढ़ियाँ परम्पराएं सब पर सवाल हैं । बहुत रोचक अंदाज़ में उन्हें यह सब समझाया जा रहा है ।

🌑 नौ बजे लगभग पिकनिक की समाप्ति होती है । धन्यवाद ज्ञापन की औपचारिक विधि धुरंधर जी और नायर जी पूर्ण करते हैं । लेकिन लोगों की बातचीत समाप्त नही हो रही है । एक सज्जन कह रहे हैं आज आप लोगों ने दिमाग हिला डाला । मैं मुस्कुराता हूँ , इसी के लिए तो हमने यह कार्यक्रम किया था भाई । अब दिमाग की भूख शांत हो गई है , पेट की भूख भी शांत करनी है ।

 

🌘🌗🌖🌑

CG Basket

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account