लिंगराम कोडोपी ने सीआरपीएफ के कमांडर के खिलाफ कलेक्टर एसपी और थाने मे शिकायत दर्ज की .: कल गोली मारने की धमकी दी थी .

लिंगराम कोडोपी ने सीआरपीएफ के कमांडर के खिलाफ कलेक्टर एसपी और थाने मे शिकायत दर्ज की .: कल गोली मारने की धमकी दी थी .

लिंगराम कोडोपी ने सीआरपीएफ के कमांडर के खिलाफ कलेक्टर एसपी और थाने मे शिकायत दर्ज की .: कल गोली मारने की धमकी दी थी .


**
कल रात सीआरपीएफ के कमांडर द्वारा आदिवासी पत्रकार लिंगराम कोडपी को जान से मारने और गोली से उडाने की धमकी दी थी जिसकी जानकारी हिमांशु कुमार ने दी थी..
आज लिंगराम ने कार्यवाही के लिये कलेक्टर ,एस.पी.और थाने में की हैं .

पूरा मामला यह हैं
हिमांशु कुमार की रिपोर्ट
*

लिंगा कोड़ोपी को CRPF के अफसर और सिपाहियों ने जान से मारने की धमकी दी है

लिंगाराम कोड़ोपी दन्तेवाड़ा के पहले आदिवासी पत्रकार है .

इससे पहले उनके साथ पुलिस हिरासत में भयानक प्रताड़ना करी जा चुकी है
और उन्हें पुलिस वालों द्वारा करे गए बलात्कारों को उजागर करने के कारण फर्जी मामलों में फंसा कर जेल में डाला जा चुका है
फिलहाल लिंगा कोड़ोपी जमानत पर है
कुछ महीने पहले लिंगाराम कोड़ोपी ने सीआरपीएफ के जवानों द्वारा पालनार के स्कूली छात्राओं के साथ अश्लील हरकतें करने के मामले में वीडियो सबूत इकट्ठे करे थे

जिसमें दो सीआरपीएफ के सिपाही जेल गये थे

तब से CRPF वाले लिंगा कोड़ोपी से चिढ़े हुए हैं  , कल रात लिंगा कोड़ोपी अपने गांव समेली से कुआकोंडा थाना जा रहे ,जहां लिंगा कोड़ोपी को जमानत की शर्त के मुताबिक हर महीने की 14 तारीख को अपनी सूचना देनी होती है, रास्ते में समेली में सीआरपीएफ कैंप में लिंगा कोडोपी को जवानों ने रोका और उनसे कहा कि हम तुम्हें कान के नीचे झापड़ मारेंगे और तुम्हें गोली से उड़ा देंगे

लिंगा कोड़ोपी ने सीआरपीएफ कैंप के भीतर जाकर कमांडेंट से जब इस बारे में बात करनी चाही और कहा कि मैं इस बात की सूचना मानवाधिकार आयोग को दूंगा ,तो सीआरपीएफ कमांडेंट ने लिंगा कोड़ोपी से कहा कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग हमारा क्या उखाड़ लेगा भोंxx के,और कहा कि ज्यादा पत्रकारिता दिखाता है इसे भीतर ले चलो ,इसे अभी सबक सिखाते हैं

लिंगाराम कोड़ोपी बड़ी मुश्किल से अपनी जान बचाकर वहां से निकल पाए है ,हम सब को आशंका है कि सीआरपीएफ जिस तरह से उस इलाके में आदिवासियों पर जुल्म कर रही है .और लिंगाराम कोड़ोपी अपनी बुआ सोनी सोरी के साथ मिलकर आदिवासियों के मानवाधिकारों की रक्षा के लिए काम कर रहे हैं

इस कारण लिंगा कोड़ोपी, सरकार पुलिस और सीआरपीएफ की आंख की किरकिरी बने हुए हैंउन्हें अपने रास्ते से हटाने के लिए सरकार, पुलिस या CRPF के द्वारा लिंगा कोड़ोपी की हत्या करवा सकती है.

हम मांग करते हैं कि लिंगा कोड़ोपी को जान से मारने की धमकी देने वाले सीआरपीएफ के सिपाहियों और अफसर के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया जाए
**

हिमांशु कुमार

CG Basket

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account