छत्तीसगंढ़ राज्य के बस्तर पुलिस केवल प्रमोश और तमगो के लिए नक्सल के नाम पर आदीवासीयों को नक्सल बना कर एनकाउटर करती हैं : लिंगराम की वीडियो रिपोर्ट

छत्तीसगंढ़ राज्य के बस्तर पुलिस केवल प्रमोश और तमगो के लिए नक्सल के नाम पर आदीवासीयों को नक्सल बना कर एनकाउटर करती हैं  : लिंगराम की  वीडियो रिपोर्ट

छत्तीसगंढ़ राज्य के बस्तर पुलिस केवल प्रमोश और तमगो के लिए नक्सल के नाम पर आदीवासीयों को नक्सल बना कर एनकाउटर करती हैं : लिंगराम की वीडियो रिपोर्ट

Published on Dec 23, 2017

यह विडीयों जारपल्ली गाँव को लेकर हैं, जहाँ बिजापूर पुलिस ने नक्स्ल मुठभेड़ दिखाया हैं, लेकिन गाँव वालों का कहना है की कोई मुठभेड़ हुआ ही नही हैं। हम उस घटना की जानकारी लेने के लिए उस गाँव तक सोनी सोरी के साथ गयें थे। छत्तीसगंढ़ राज्य के बस्तर पुलिस केवल प्रमोश और तमगो के लिए नक्सल के नाम पर आदीवासीयों को नक्सल बना कर एनकाउटर करती हैं और नक्सल मुठभेड़ बताती हैं आदीवासी मारो पैसा कमाओं प्रमोशन पाओं। ग्रह मंत्रालय नक्सल उन्मूलन के नाम पर छत्तीसगंढ़ राज्य सरकार को मनमाने धन प्रदाय कर रहा हैं। धन्य हैं मेरा भारत। भारत सरकार का ग्रहमंत्रालय भी धन्य है बिना जांच के प्रमोशन और तमगे दिया करती हैं।

***

हिमांशु कुमार की दो दिन पहले की रिपोर्ट

इस इतवार यानी 17 दिसम्बर 2017 को

पुलिस ने बीजापुर जिले के झारपल्ली गाँव में जाकर

अट्ठारह साल की एक लडकी को गोली से उड़ा दिया

लडकी का नाम जोगी है

गाँव वाले पिछले तीन दिन से थाने के बाहर खड़े होकर

अपनी बेटी की लाश मांगते रहे

आज बड़ी हुज्जत के बाद पुलिस ने उस लडकी की लाश उसके परिवार वालों को सौंपी है

गाँव वालों ने अपने गाँव की लडकी की इस तरह से हत्या किये जाने के विरोध में

उसका अंतिम संस्कार नहीं किया है

गाँव के आदिवासियों ने सोनी सोरी और लिंगा कोड़ोपी अपने गाँव में बुलाया है

सोनी सोरी और लिंगा कोड़ोपी गाँव वालों से मिलने के लिये निकल चुके हैं

– हिमांशु कुमार

CG Basket

Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account