जेके लक्ष्मी सीमेंट कंपनी द्वारा क्षतिपूर्ति राशि बंद करने के खिलाफ किसानों का अहिवारा में अनिश्चितकालीन धरना आज से .जेके लक्ष्मी सीमेंट कंपनी प्रभावित किसान संघर्ष समिति

22.12.2017

अहिरवारा दुर्ग.

अहिवारा क्षेत्र में सीमेंट, पावर प्लांट के निर्माण के अलावा खदान के लिए नौकरी देने का सब्जबाग दिखाकर सैकड़ों किसानों के हजारों एकड़ जमीन सात आठ साल पहले सस्ते कीमत में खरीदा गया था लेकिन प्लांट में उत्पादन शुरू होने के बाद भी किसी भी प्रभावित किसानों को नौकरी नहीं दी गई,
2013 में छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच की पहल पर तत्कालीन कलेक्टर बृजेश मिश्रा के निर्देश पर जेके लक्ष्मी सीमेंट कंपनी प्रबंधन ने छत्तीसगढ़ आदर्श पुनर्वास नीति के अंतर्गत नौकरी नहीं देने की स्थिति में प्रभावित किसानों को हर महीने राज्य सरकार द्वारा घोषित न्यूनतम पारिश्रमिक की दर से क्षतिपूर्ति राशि देना शुरू किया गया था जिसे इस साल अप्रैल महीने से अचानक बंद कर दिया गया,
प्रभावित किसानों ने शासन प्रशासन को अनेक बार इसकी जानकारी दिया किंतु प्रबंधन ने भुगतान शुरू नहीं किया तब छ: गांवों के प्रभावित किसानों ने *जेके लक्ष्मी सीमेंट कंपनी प्रभावित किसान संघर्ष समिति* का गठन किया और छत्तीसगढ़ आदर्श पुनर्वास नीति के प्रावधान के अनुसार क्षतिपूर्ति राशि देने की मांग को लेकर 22 दिसंबर से अहिवारा में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है.
***

Leave a Reply

You may have missed