* तिरंगा यात्रा में व्यवधान डालने की कोशिश *
**सोनी सोरी पर तीन गाड़ियों में आये लोगों ने  किया हमला .
**हमलावरों की कोशिश की, कि  सोनी सोर्स  कोर्ट न पहुंच पाये जिससे उनका वारंट निकल जायें और वो यात्रा में शामिल न हो पाये.
**हमलावरों की गाडियाँ हमले के बाद   कोडेनार थाने के अन्दर  चली गई.
****
सोनी सोरी एक जीप में पदयात्रा स्थल से जगदलपुर जिला अदालत में सुनवाई में पेश होने जा रही थीं
तभी बिना नम्बर प्लेट वाली एक जीप नें पीछे से आकर सोनी सोरी की जीप को ओवरटेक किया और जीप को सड़क के बीचों बीच में रोक दिया
जीप में से कुछ लोग बाहर कूद आये और सोनी सोरी की जीप को रोकने की कोशिश करने लगे
सोनी सोरी की जीप आदिवासी पत्रकार लिंगा कोड़ोपी चला रहे थे ,
अगली जीप से बाहर कूद कर आये हुए लोगों ने सोनी सोरी और लिंगा कोड़ोपी को चिल्ला कर गालियाँ दीं .
सोनी सोरी की जीप में पत्रकार कमल शुक्ला , तामेश्वर सिन्हा , सोनी सोरी के दो सुरक्षा कर्मी मौजूद थे ၊
इन लोगों को उसी जगह रोका गया गया , जहाँ सोनी सोरी पर पुलिस वालों नें चेहरे पर केमिकल हमला किया था ,
सोनी समझ गई कि आज के हमले का मकसद सोनी सोरी और लिंगा कोड़ोपी को अदालत तक पहुँचने से रोकने का हो सकता है .
इसलिये सोनी सोरी और उनके साथियों नें नीचे उतर कर इन लोगों से उलझने की बजाय आगे निकलना उचित समझा , और गाड़ी सड़क के किनारे कच्चे में उतारते हुए आगे निकाल ली .
लेकिन वह गाड़ी ओवरटेक कर के फिर से आगे निकल गई , तभी एक दूसरी जीप नें सोनी सोरी की जीप को पीछे से घेर लिया .
अगली जीप वाले पुरूष सोनी सोरी और लिंगा कोड़ोपी को उंगली दिखा कर घमकाते रहे .
कुछ आगे जाकर ये दोनो जीपें कोड़ेनार थाने के भीतर चली गई.
अभी सोनी सोरी कोर्ट की तरफ चली गई हैं
असल में अक्सर   जीप में सिर्फ सोनी सोरी और लिंगा कोड़ोपी अकेले ही होते हैं .
लेकिन आज सोनी सोरी के साथ इतेफाक से कई लोग मौजूद थे .
इसलिये आज पुलिस कोई बड़ा कांड नहीं कर पाई .
लेकिन जल्द ही सरकार सोनी सोरी और लिंगा कोड़ोपी पर हमला कर सकती है
*****
पत्रिका के पत्रकार राजकुमार सोनी अभी अभी सोनी से बात करके हमले की पुष्टि  की.आडियो सुनें .
****

Leave a Reply

You may have missed