19.पंढरपुर की ‘ वारी पर केन्द्रित . नरेन्द्र दाभोलकर .

पंढपरपुर की यात्रा में लाखों लोगों के शामिल होने का अंध श्रध्दा निर्मूलन समिति कभी विरोध नहीं करती । इसका कारण बताते हुए डॉ . नरेन्द्र दाभोलकर कहते हैं , ‘ श्रद्धा है – उत्कटता के साथ सक्रिय होने वाली विवेक शक्ति . उत्कटता और सक्रियता की दोनों कसौटियों पर Continue Reading