किनारे बसे गांव के लोग इंद्रावती सूख गई तो हमारा जीवन ही खत्म हो जायेगा , दौरान 5 गांव के लोग अब तक कर चुके हैं आंदोलन को समर्थन .

जगदलपुर पत्रिका इंद्रावती बचाने के लिए निकाली जा रही पदयात्रा गुरुवार को उपनपाल से भालुगुड़ा और करणपुर पहुंची । कुल 6 किमी की पदयात्रा रही । इसमें सैकड़ों की संख्या में आंदोलन से जुड़े जगदलपुर शहर के लोग और नदी किनारे बसे गांवों के ग्रामीण शामिल थे । इस दौरान Continue Reading

दीवान पटपर : ढाल के विपरीत खिंचाव : अजय चंन्द्रवंशी

भोरमदेव-मैकल पर्वत क्षेत्र अपने पुरातत्विक अवशेष के साथ-साथ प्राकृतिक सौंदर्य, जंगल, गुफाओं, बैगा जनजाति के निवास और संस्कृति आदि के लिए भी जाना जाता है। यहां मैकल श्रेणी में कई अद्भुत गुफाएं और प्राकृतिक संरचनाएं हैं, जो धीरे-धीरे उजागर हो रही हैं। विभिन्न प्रकार के भौगोलिक स्थितियों सरंचनाओं,परिस्थितियों,ऊंचाई-नीचाई, ताप-दाब के Continue Reading

कविता : आदिवासी-वन निवासी, कब तक हाथी से मरते रहोगे? जब तक जल जंगल जमीन को अपने अधीन नहीं करोगे. याकूब कुजुर .

आदिवासी-वन निवासी जागो आदिवासी-वन निवासी, कब तक हाथी से मरते रहोगे? जब तक जल जंगल जमीन को अपने अधीन नहीं करोगे। आदिवासी-वन निवासी, कब तक हाथी से मरते रहोगे? जब तक पेसा, वन अधिकार कानूनों को नहीं अपनाओगे। आदिवासी-वन निवासी,कब तक हाथी से मरते रहोगे? जब तक अपने गॉव की Continue Reading

रायगढ ,सारंगढ : छत्तीसगढ़ राज्य में 18 साल बाद भी बदहाल है गोमर्डा अभ्यारण के किसान .

डॉ . संदीप उपाध्याय patrika . com के लिये .आभार सहित . रायगढ़ . सारंगढ़ विकासखंड अंतर्गत गोमर्डा अभ्यारण के घने जंगलों के बीच बसे 28 गांव के किसान नया राज्य बनने के बाद भी केन्द्र व राज्य सरकार के बेरुखी का दंश 18 साल से झेल रहे हैं । Continue Reading

प्रज्ञा के बहाने सांप्रदायिक ध्रुवीकरण की कोशिश – जीवेश चौबे

हिंदू या भगवा आतंकवाद की थ्योरी के जनक मुख्य रूप से दिग्विजय सिंह ही रहे हैं। दिग्विजय सिंह ने खूब नमक-मिर्च लगाकर हिंदू आतंकवाद के मुद्दे को देश की जनता के सामने रखा। उन्हीं ने हिन्दू या भगवा आतंक के आख्यान को देश में फैलाया। यह स्पष्ट है कि दिग्विजय Continue Reading

टाईम पत्रिका ने लिखा है मोदी के लिये , इंडियाज डिवाइडर इन चीफ़ यानी भारत को बाँटने वाला मुखिया .

यह पत्रिका भारत में नहीं छपती है, अमेरिका की है लेकिन इस पत्रिका ने भारत के चुनावों का विश्लेषण करते हुए भारत के प्रधानमंत्री मोदी के लिए शब्द लिखा है – इंडियाज डिवाइडर इन चीफ़ यानी भारत को बाँटने वाला मुखिया … युसूफ किरमानी की फेसबुक से 10.05.2019 भाजपा और Continue Reading

तमस’ पढ़ते हुए : अजय चंन्द्रवंशी ,कवर्धा .

‘तमस’ बीसवीं शताब्दी के श्रेष्ठ उपन्यासों में से एक है. इस उपन्यास को पढ़ना एक त्रासदी से गुजरना है. इसको पढ़ने से पता चलता है, स्वतंत्रता के ठीक पूर्व देश की स्थिति कितनी भयावह हो चली थी, साम्प्रदायिकता कैसे मानवता को तार-तार कर देती है, जहां आदमी को अपने पास-पड़ोस Continue Reading