सूखे रंग और गुलाल से आँखों को बचाएं – डॉ. दिनेश मिश्र

वरिष्ठ नेत्र एवं कान्टेक्ट लेन्स विशेषज्ञ डॉ. दिनेश मिश्र ने होली पर आंखों व अन्य संवेदनशील अंगों को बचाकर रंग खेलने का सलाह दी है। उन्होंने कहा कि होली खेलें जरूर पर आंखों के अंदर में सूखा रंग व गुलाल न जाए, इसका विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। डॉ. दिनेश Continue Reading

स्कूल शिक्षा और साक्षरता पर जन घोषणा पत्र : AIPSN &. BGVS

अखिल भारतीय जन विज्ञान नेटवर्क (AIPSN) एवं भारत ज्ञान विज्ञान समिति ( BGVS) स्कूल शिक्षा और साक्षरता पर जन घोषणा पत्र    1. 2011 के जनगणना आंकड़ों के मुताबिक 27% लोग अशिक्षित हैं, जो कि हमारी जनसंख्या के 30 करोड़ से अधिक को शामिल करता है। महिलाओं में साक्षरता की Continue Reading

युद्धोन्माद और सांप्रदायिक नफरत के खिलाफ सांस्कृतिक संध्या ,31 मार्च 2019  , रायपुर 

18.03.2019 “जंग चाहते हैं आज जंगखोर_ _ _ _ _ _” “भूख के विरुद्ध भात के लिए, हम लड़ेंगे, हमने ली कसम_ _ _ _ _ _ _” पूरे देश की फ़िज़ा, अंधराष्ट्रवाद और युद्धोन्माद के ज़हर से कराह रही है। कॉर्पोरेट ताक़तों द्वारा आम जनता पर ताबड़तोड़ हमले करने Continue Reading

सरकार बदलने से जंगल जमीन खनिज की कारपोरेट लूट खत्म नही होती.:, संदर्भ सरगुजा परसा केते

सरकार बदलने से जंगल जमीन खनिज की कारपोरेट लूट खत्म नही होती। पर्यावरण का विनाश करने पर भी अडानी जैसी कंपनियो पर प्रशासन मेहरबान बना ही रहता हैं । सरगुजा में अडानी द्वारा संचालित परसा ईस्ट केते बासन कोयला खदान से साल्ही नाला जो अटेम नदी से हसदेव में मिलता Continue Reading

वे जानते हैं कि एक बार सत्ता से हटने के बाद न जाने कितनी फौजदारी कार्रवाइयों का उन्हें सामना करना पड़ेगा. : आत्म-हनन के पथ पर मोदी !

https://janchowk.com/Beech-Bahas/modi-election-suicide-chaukidar-congress-rahul/4334#.XI5Eha7nWXN.whatsapp अरूण माहेश्वरी .वरिष्ठ लेखक और स्तंभकार किसी भी सामाजिक-राजनीतिक परिघटना के पीछे कोई एक कारण नहीं होता है । यह जीवन के अनेक कारणों के समुच्चय का परिणाम होता है । इसे कहते है – कारणों का नानात्व । (Multiplicity of causality) 2014 में मोदी के उत्थान के पीछे Continue Reading