25.01.2019  अस्पताल की इस आवाजाही से यह अनुमान लगाना बिल्कुल गलत होगा कि कृष्णा सोबती कहीं से लाचार या कातर थीं. 94 बरस की इस अप्रतिम हिंदी लेखिका की अपनी शारीरिक परेशानियां रही होंगी. पिछले दिनों देहरादून में अपने बेटे से फ़्लैट में हमने देखा कि उसकी मेज पर एक […]

अक्षर पर्व दिसंबर 2018 अंक की प्रस्तावना ललित सुरजन जी के फेसबुक वाल से आभार सहित   शाकिर अली के पहले ही लेख ने साहित्य जगत की प्याली में एक छोटा-मोटा तूफान उठा दिया था। यह वाकया आपातकाल लागू होने के कुछ समय बाद का है। जबलपुर से ‘पहल’ पत्रिका […]

अपना मोर्चा के लिये 25.01.2019 / रायपुर  रायपुर. भाजपा शासनकाल में लोग मंत्रियों का निज सचिव बनने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाया करते थे. कमोबेश यही स्थिति अब भी बरकरार है. हालांकि नई सरकार के मंत्री देख-समझकर निज सचिवों की नियुक्ति कर रहे हैं बावजूद इसके उठापटक बंद नहीं […]

 जावेद अख्तर, सलाम छत्तीसगढ़… 26.01.2019 रायपुर (25 जनवरी 2019)। आज़ाद हिंद फौज़ के जाबांज़ व नेताजी के सहयोगी जनरल शाहनवाज़ खान का आज जन्मदिन है। आज की युवा पीढ़ी जनरल खान को सही तरह से नहीं जानती यानि भुला चुकी है। आज़ाद हिंद फौज़ के इन जाबांज़ों को भुला देना […]

25.01.2019 (आमुखः भारत एक समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष और प्रजातांत्रिक गणतंत्र होने की प्रतिज्ञा ली है। परन्तु दुख की बात तो यह है कि वर्तमान राजनीतिक हालात में इन मूल्यों को कमजोर किया जा रहा है। लगभग 20 बुद्धिजीवी, प्रोफेषनल्स और कार्यकर्ता, जो गरीबो और पिछड़ों के मौलिक अधिकारों के लिए काम […]

25.01.2019 श्याम बेनेगल की फिल्म ‘नेताजी द अनफॉरगोटेन हिरो’ में एक दृश्य है। 10 दिसंबर 1942 की सुबह सुभाष बाबू बर्लिन में बैठकर अखबार पढ़ रहे हैं। तभी उनके सहयोगी एसीएन नांबियार वहां आए। सुभाष बाबू ने अखबार बढ़ाते हुए नांबियार से ‘क्विट इंडिया मूवमेंट’ और गांधी जी की गिरफ्तारी […]

25-01-2019 हमारी भाषा की अप्रतिम गद्यकार कृष्णा सोबती का इंतकाल साहित्यप्रेमियों और लेखकों को शोक-संतप्त कर देने वाली सूचना है. वे दिल्ली के सफदरजंग स्थित आर्षलोक अस्पताल में भर्ती थीं जहां आज सुबह ८:३० बजे उन्होंने आख़िरी साँसें लीं. कृष्णा जी लम्बे समय से स्वास्थ्य-संबंधी समस्याओं से जूझ रही थीं, […]

25.01.2019 भोरमदेव मंदिर के दक्षिण-पश्चिम में लगभग एक कि.मी. की दूरी पर चौरा ग्राम में एक ईंट-प्रस्तर निर्मित, पूर्वाभिमुख शिव मंदिर है,जो जनमानस में ‘छेरकी महल’ के नाम से जाना जाता है।’छेरकी महल’ के नाम के पीछे यह कारण हो सकता है कि मंदिर खुला होने से ‘छेरी’ अर्थात बकरी […]

उन्नीसवें युवा उत्सव में एकांकी नाटक प्रतियोगिता का दो दिनों तक अवलोकन करने के पश्चात अनेक उल्लेखनीय विशेषताएँ देखने को मिलीं – 1. छत्तीसगढ़ राज्य के बस्तर, सरगुजा, राजनाँदगाँव, कोरबा जैसे जिलों की बहुआयामी संस्कृति को एक मंच पर देखने का अवसर मिला। लगभग हरेक जिले के कलाकारों के उच्चारण, […]

बहुत समय से फ्री सेक्स पर लिखना टाल रहा था, लेकिन आज मेरे एक प्रिय लेखक ने फ्री सेक्स की मज़ाक उड़ाते हुए लिखा तो लगा कि अब इस पर अपनी समझ से टिप्पणी करी जाय, मैं फ्री सेक्स के पक्ष में हूँ, फ्री सेक्स का मतलब क्या है ? […]

Breaking News