जगदलपुर ःः  ये दिल बहलाने नही वाले , दिल दहलाने वाले पुतले हैं… मौत का समान है .

  फोटो और खबर : पत्रकार अविनाश प्रसाद ब्लिट्ज हिन्दी. काँम से आभार सहित  1.12.2018 जी हां , तस्वीरों में मौजूद हाँथों में बंदूख लिए हुये , पेड़ों के पीछे मोर्चा जमाए ये पुतले सुकमा जिले के अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र के जंगलों में देखने में तब आए जब सुरक्षाबल Continue Reading

जॉन एलिया का मिसरा और 15 दिसंबर को रायपुर में जबरदस्त मुशायरा .

रायपुर / इस महीने 15 दिसंबर को राजधानी रायपुर के जेएन पांडे अॉडिटोरियम में एक जानदार और शानदार मुशायरे का आयोजन किया गया है। तर्ज़े सुख़न नामक संस्था के प्रमुख अता रायपुरी ने बताया कि शाम ठीक आठ प्रारंभ होने वाले इस मुशायरे में छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव, दुर्ग, भिलाई, रायपुर, Continue Reading

सामने आई फूफा की अनोखी दास्तान ःः  राहुल कुमार सिह 

1.12.2018 रायपुर ‘एक थे फूफा’ अनाम-सर्वनाम का लोकवृत्त है। व्यक्ति चित्र के माध्यम से पिछली सदी की आंचलिक जीवन शैली और सोच को आधार बनाया गया है, जो संस्कृति के पक्षों को स्पर्श करता चलता है। बिड़ी और तोते के रूपक वाला जीवन, अंततः संदर्भ-रहित हो कर निस्सार, रेखांकित हुआ Continue Reading

वेदान्त, इस्लाम और विवेकानन्द ःः कनक तिवारी .

30.11.2018. हरिभूमि में प्रकाशित लेख  विवेकानन्द वांग्मय में ‘इस्लाम‘, ‘मोहम्मद‘ जैसे शब्द सैकड़ों बार आए हैं। गुरु श्रीरामकृष्णदेव ने हिन्दू धर्म, इस्लाम और ईसाई मत में अपूर्व एकता खोजी। विवेकानन्द के मुताबिक श्रीरामकृष्णदेव उस एकता के अवतार थे।‘ (विवेकानन्द समग्र खंड-10, पृष्ठ-218) विवेकानन्द के लिये धर्म न तो सिद्वान्तों की Continue Reading

अभिव्यक्ति ःः 💠 हां, कुछ बदल सी गई है सवि .ःः सविता तिवारी .

28.11.2018. सविता तिवारी 💠 हां, कुछ बदल सी गई है सवि . 🔆🔆🔆 खुद का कदर करना सीख गई है, खुद के लिये जीना सीख गई है सवि, त्याग दिया है उसने बेकदरों का साथ, अब पूरे आल्हादित मन से खुद के लिये मुस्काती हैं सवि खुद के लिये सजती Continue Reading