मनुष्यता_का_निर्णायक_दीपोत्सव. ःः  रामपुर बघेलान के गांवों में घूमते हुये रौशनी का पुनर्स्मरण, ःः बादल सरोज 

धीरे धीरे बिखर रहा है जर्रा जर्रा जाने कौन फोटो -होसैन 7.11.2018 ● इतिहास के साथ और भले कितनी दुविधाएं हों एक बड़ी सुविधा है ; इसे सूक्ष्म विवरणों से परे जाकर एकसाथ विहंगम रूप में निहारा जा सकता है – और मजेदार बात यह है कि ऐसा करना हमेशा Continue Reading

ललित टिप्पणी ःः तुम कोई अच्छा-सा रख लो अपने दीवाने का नाम ःः असगर वज़ाहत 

7.11.2018 कहते हैं नाम में क्या रखा है। लेकिन कुछ लोग कहते हैं कि नाम में बहुत कुछ रखा है। मिसाल के तौर पर फिल्मी लेखक और उर्दू के शायर जावेद अख्तर कहते हैं कि नाम तो बहुत इंपॉर्टेंट होता है । मान लीजिए गब्बर सिंह का नाम शराफत अली Continue Reading

59 मिनट में एक करोड़ का ऋण और मोदी ,अंबानी ,गुजरात का फ्राड़ कनेक्शन .

7.11.2018 59 मिनट में एक करोड़ के ऋण देने के संबंध में एक खुलासा आया है यह ऋण सैद्धांतिक रूप से एक ई-मेल द्वारा पारित किया जाएगा ,यह एक आटो जनरेटेड प्लेटफार्म होगा जिसमें आवेदक की अधिकांश जानकारी होगी उसके ऋण की गणना और ऋण प्रदाता बैंक भी यही पोर्टल Continue Reading

हैप्पी दीवाली विद मैसूर पाक ःः शरद कोकास

मैसूर पाक के जन्म की कहानी मैसूर पाक एक ऐसी मिठाई है जिसका जन्म डेढ़ सौ वर्ष पूर्व मैसूर की इस दुकान में हुआ । उस समय मैसूर के राजा कृष्ण राव वाडियार थे । उनकी इच्छा हुई कि एक ऐसी मिठाई बनाई जाए जो पहले कभी किसी ने न Continue Reading