बोरे में मिली ज़िला न्यायालय के गुमशुदा आदेशिका वाहक की लाश, पुलिस को चकमा देने के लिए परिवार के साथ घूमता रहा आरोपी

फ़ोटो : अप्पू नवरंग

मंगला दीनदयाल कॉलोनी में आज एक सनसनीखेज़ मर्डर का मामला सामने आया है।
प्राप्त पहली जानकारी के मुताबिक मृतक गुलाब सिंह जिला न्यायालय में आदेशिका वाहक के पद पर पदस्थ थे। मृतक के बेटे कमल सिंह ने बताया कि आरोपी और मृतक दोनों दोस्त थे और साथ में ज़िला न्यायालय में काम करते थे।
मृतक गुलाब सिंह 6 जून की सुबह 10 बजे डयूटी जाने के घर से निकले थे। दोपहर डेढ़ बजे वे ज़िला न्यायालय से किसी काम से निकले जिसके बाद से वे घर नहीं लौटे। परिवार वालों ने फ़ोन पर उनसे संपर्क करना चाहा पर संपर्क नहीं हो पा रहा था। शाम 8 बजकर 14 मिनट से मृतक गुलाब सिंह का मोबाईल स्विच ऑफ हो गया। तब परिवार वालों ने सिविल लाइन थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई।

आरोपी ने फिल्मी अंदाज़ में दिया घटना को अंजाम

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी। फ़ोटो : अप्पू नवरंग

आरोपी फूल सिंह ने गुलाब सिंह को फ़ोन कर के मंगला दीनदयाल कॉलोनी स्थित अपने घर शराब पीने के लिए बुलाया था। जानकारी के मुताबिक आरोपी, मृतक को सट्टा खेलने के लिए ब्याज में पैसे दिलवाता था। कुछ समय से ब्याज के पैसों को लेकर दोनों दोस्तों के बीच विवाद चल रहा था। आरोपी फूल सिंह ने गुलाब सिंह को सबक सिखाने की नीयत से शराब पीने के बहाने अपने घर बुला लिया। नशे में दोनों दोस्तों के बीच विवाद बढ़ा और फूल सिंह ने हथौड़े से हमला कर के गुलाब सिंह की हत्या कर दी। आरोपी ने लाश को ठिकाने लगाने के लिए उसे बोरे में भर लिया था। आरोपी ने बोरे में भरी लाश को अपने घर के किचन में छुपा दिया था।

परिवार के साथ घूमता रहा आरोपी

घटना को अंजाम देने के बाद किसी फिल्मी अपराधी कि तरह फूल सिंह ने बच निकलने की चाल चली और मृतक के परिवार वालों के साथ मृतक की तलाश का नाटक करता रहा। यहां तक कि मृतक की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाने के लिए भी वो परिवार के साथ सिविल लाइन थाने पहुंचा था।

पुलिस को फूलसिंह के हावभाव पर शक हुआ। कड़ाई से पूछताछ करने पर फूलसिंह ने साथी गुलाब सिंह की हत्या करने की बात स्वीकार की।

खबर लिखे जाने के समय तक पुलिस की कार्रवाई चल रही है।

Anuj Shrivastava

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

शहादत दिवस : बिरसा मुंडा का ‘उलगुलान’ भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के इतिहास का महत्वपूर्ण अध्याय है

Tue Jun 9 , 2020
Share on Facebook Tweet it Share on Google Pin it Share it Email आलेख : डॉ. मुकेश कुमार गहरा अमर […]