घरेलू हिंसा पर छतीसगढ हाईकोर्ट ने शासन के जबाब से संतुष्ट होकर जनहित याचिका निराकृत कर दी .

बिलासपुर ,12.08.2018

मुख्य न्यायाधीश अजय त्रिपाठी की युगल पीठ ने घरेलू हिंसा पर दायर जनहित याचिका को छतीसगढ शासन के जबाब से संतुष्ट होकर निराकृत कर दी . महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा तथा शासन द्वारा 2005 में में लागू सरंक्षण और पुनर्वास केन्द्र की घोषणा के बाद महिलाओं की पर्याप्त सुरक्षा न हो पाने की समस्या को लेकर रेखा राज ने जनहित याचिका दायर की थी .याचिका में लिखा गया था कि छतीसगढ में केन्द्र होने के बाबजूद घरेलू प्रताड़ना और हिंसा की घटनायें घट रही हैं . पुलिस सही कार्यवाही नही कर रही हैं ,जिससे पीडित महिलाओं को समुचित लाभ नहीं मिल रहा है . याचिका पेश होने के बाद हाईकोर्ट ने छतीसगढ शासन से जबाब के लिये नोटिस जारी किया .

शासन ने जबाव में लिखा कि छतीसगढ में घरेलू हिंसा से प्रताड़ित महिलाओं के सरंक्षण के लिये 27 जिलों मे महिला प्रताड़ना उन्मूलन सेल ( नवा बिहान ) शुरू किये गये हैं .और यह सेल अच्छी तरह से काम कर रहे है .महिलाओं की समस्या का निदान त्वरित और व्यवस्थित तरिके से किया जा रहा है ।इस काम में पुलिस भी सहयोग कर रही हैं.

युगल पीठ ने शासन के काम की सराहना करते हुये जनहित याचिका निराकृत कर दी.

( दैनिक भास्कर से आभार सहित )

CG Basket

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

बिलासपुर : लोकतंत्र बचाओ के लिये साझा मंच के सांस्कृतिक आयोजन 14 अगस्त को रतजगा .

Mon Aug 13 , 2018
Share on Facebook Tweet it Share on Google Pin it Share it Email का. सोमनाथ चटर्जी को दी श्रधांजलि : ट्रेड यूनियन कोंसिल बिलासपुर. ** 13.08.2018/ बिलासपुर . स्वतंत्रता दिवस की पूर्व रात्री 14 अगस्त को बिलासपुर के गोल बाजार में छितानी मितानी धर्म शाला के सामने सांझी विरासत सांझा […]

Breaking News